Tokyo Olympics: वंदना कटारिया ने रचा इतिहास, बनीं 'हैट्रिक गोल' करने वाली पहली खिलाड़ी

नई दिल्ली:  भारतीय महिला हॉकी टीम ने करो या मरो के मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को 4-3 से मात दे दी है. भारत की ओर से वंदना कटारिया (Vandana Katariya) ने तीन और नेहा गोयल ने एक गोल किया. वंदना कटारिया ऐसी पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गई हैं, जिन्होंने ओलंपिक के किसी मुकाबले में हैट्रिक जमाया हो. इंडियन हॉकी टीम के अगले दौर में जाने की उम्मीदें अभी भी बनी हुईं हैं. ब्रिटेन यदि आयरलैंड को आज हरा देता है, तो भारत क्वार्टर फाइनल में पहुंच जाएगा.

वंदना कटारिया ने पहले क्वार्टर ने भारत को बेहतरीन शुरुआत दिलाते हुए चौथे मिनट में पहला गोल किया. हालांकि पहले क्वार्टर के अंतिम क्षणों में दक्षिण अफ्रीका ने बराबरी का गोल दाग दिया. दूसरे क्वार्टर में भी वंदना ने आक्रामक खेल दिखाते हुए एक और गोल दाग दिया और स्कोर 2-1 हो गया. हालांकि, दक्षिण अफ्रीका ने भारत की बेहद कमजोर डिफेंस लाइन को दूसरी बार भेदकर पहले हाफ में मुकाबला 2-2 से बराबर कर दिया. तीसरे क्वार्टर में भारत ने एक बार फिर शानदार शुरुआत करते हुए नेहा गोयल के गोल की सहायता से अपनी बढ़त 3-2 से कर ली थी. किन्तु दक्षिण अफ्रीका ने फिर मैच में वापसी करते हुए तीसरा गोल कर मुकाबले को एक बार फिर बराबरी पर पहुंचा दिया. मैच के 49वें मिनट में वंदना ने तीसरा गोल करते हुए भारत को 4-3 से बढ़त दिला दी, जो निर्णायक साबित हुई. दक्षिण अफ्रीका के लिए टैरिन ग्लास्बी, कप्तान एरिन हंटर और मारिजेन मराइस ने गोल किए.

बता दें कि लगातार दूसरी बार ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाली इंडियन टीम, रियो ओलंपिक में 12वें पायदान पर रही थी. पहले तीन मुकाबलों में भारत को विश्व की नंबर एक टीम नीदरलैंड ने 5-1 से, जर्मनी ने 2-0 और गत चैम्पियन ब्रिटेन ने 4-1 से मात दी थी. चौथे मैच में नवनीत कौर के गोल की बदौलत भारत ने आयरलैंड को 1-0 से हराया था.

भारत की महिला हॉकी टीम ने दक्षिण अफ्रीका दी मात

भारतीय क्रिकेट टीम की बढ़ी परेशानी, क्रुणाल पांड्या के बाद ये दो खिलाड़ी हुए कोरोना संक्रमित

Tokyo Olympics: फाइनल में पहुंची कमलप्रीत कौर, ओलंपिक मेडल की प्रबल दावेदार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -