लॉकडाउन में मजदूरी छूटी तो 'रोटी' भी छूट गई, भोजन के आभाव में कंकाल बने मां और 5 बच्चे

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से एक चौंकाने वाला मामला प्रकाश में आया है. जहां पर एक परिवार दो महीने से भूखा है. 5 बच्चे और महिला सहित पूरे परिवार को अस्पताल में एडमिट करा दिया गया है. इस झकझोर देने वाले मामले ने हर किसी को हिला कर रख दिया है. एक महिला और उसके 5 बच्चे 2 महीने से भोजन के लिए तरस गए. 

महिला की सबसे बड़ी बेटी जिसका विवाह हो चुका है, उसको और उसके पति को जब पता चला कि घर में सबकी तबीयत खराब है, तो महिला के दामाद ने पूरे परिवार को जिला अस्पताल में एडमिट कराया, किन्तु उन लोगों की भी माली हालत ठीक नहीं है, मलखान सिंह जिला अस्पताल के वार्ड नंबर 8 में एडमिट होने के बाद किसी तीमारदार द्वारा NGO को फोन से सूचना दी गई, जिसके बाद अस्पताल में ही NGO पहुंचा और उसने इन लोगों की सहायता की है. बताया जा रहा है कि छह सदस्यों के इस परिवार को किसी ने कुछ रोटियां दे भी दीं तो ये लोग उन्हें खाकर और पानी पीकर दिन काटते रहे. अब नौबत यहां तक आई गई कि इस परिवार ने बीते 10 दिनों से अन्न का एक दाना तक नहीं खाया. भूखे रहने से पूरे परिवार की तबीयत बिगड़ गई और एक NGO की सहायता से इन्हें मलखान सिंह जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया.  

40 वर्षीय महिला का कहना है कि दो माह पूर्व उसके पति की मौत हो गई थी. जिसके बाद से पूरा परिवार अन्न के एक एक दाने के लिए तरस रहा है. महिला के परिवार में चार लड़के और एक 13 साल की लड़की है. इसके अलावा बड़ा बेटा 20, दूसरा 15, तीसरा 10 और सबसे छोटा बच्चे की उम्र 5 वर्ष है.  

ICICI बैंक ने पीपी आधार पर बांड जारी कर जुटाए 2,827 करोड़ रुपए

क्या आपने भी अभी तक नहीं लगवाई है कोरोना वैक्सीन, तो Paytm पर तुरंत ऐसे कराएं ऑनलाइन स्लॉट बुकिंग

भारत में खुदरा बिक्री दो साल पहले की तुलना में मई में 79 प्रतिशत घटी: RAI

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -