सीरिया में शांति बहाली के प्रस्ताव को लेकर UN में बनी आम सहमति

न्यूयाॅर्क : इस्लामिक स्टेट आॅफ ईराक के खात्मे के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में आम सहमति बन गई। इस दौरान आम सहमति से शांति बहाली का प्रस्ताव पारित कर दिया गया। आईएसआईएस पर किए जाने वाले हवाई हमले भी नहीं रोके जाने को लेकर भी सदस्यों ने सहमति जताई उनका कहना था कि सीरिया में होने वाले हवाई हमले नहीं रोके जाऐंगे। उनका कहना था कि उसका खात्मा करना ही होगा। 

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा इस आशय का प्रस्ताव पारित कर दिया गया। जिसके बाद सीरियाई सरकार और विद्रोही गुटों के मध्य शांति बहाल करने को लेकर संघर्ष विराम को लेकर चर्चा की गई। इसके पूर्व दोनों ही गुटों को चर्चा के लिए राजी करने की बात को चुनौती माना गया। इसके बीच असद सरकार और संयुक्त राष्ट्र को अपना ध्यान रखने को कहा गया है। इस्लामिक स्टेट आॅफ इराक द्वारा अपनी जड़ें मजबूत न करने और अमेरिका व रूस के ही साथ फ्रांस के हवाई हमले जारी रखने पर सभी सदस्यों ने अपनी सहमति जताई।

यूएन मुख्यालय में आयोजित की गई बैठक में स्पेन, ब्रिटेन, अमेरिका, रशियन फेडरेशन समेत 15 काउंसिल सदस्य मौजूद थे। इस बैठक में प्रमुख तौर पर संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून शामिल हुए। बैठक युद्धग्रस्त सीरिया में आयोजित की गई। इस दौरान सुरक्षा परिषद ने यह माना कि यह इंसानियत का खून नहीं किया जाना चाहिए था। इस तरह का खून - खराबा रूकना चाहिए था।

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद द्वारा इस्तीफा देने की अपील की गई। उनका कहना था कि विशेषज्ञों का यह मानना था कि जब तक असद अपने पद पर आसीन हैं, वहां स्थायित्व कायम नहीं किया जा सकता है। उन्होंने अपील की कि इस तरह की सरकार बनाई जाए जो सुशासन के तहत अपना कार्यकाल चला सके। असद को पद से हटाए बगैर यह सब संभव नहीं है। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -