मुसलमान होने के कारण उमर को बनाया जा रहा निशाना

Feb 19 2016 10:26 AM
मुसलमान होने के कारण उमर को बनाया जा रहा निशाना

नई दिल्ली : जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में देशद्रोही नारे लगाने के मामले में आरोपी के तौर पर सामने आ रहे उमर खालिद के पिता अपने बेटे उमर के समर्थन में सामने आए हैं। उमर खालिद के पिता सैय्यद कासिम इलियास ने अपने बेटे को लेकर कहा है कि उनके बेटे को मुसलमान होने के कारण टारगेट किया जा रहा है। उन्होंने इस मामले में होने वाले मीडिया ट्रायल पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इस मामले में मीडिया उनके बेटे को आरोपी बना रहा है उसे आतंकी बताने तक के प्रयास हो रहे हैं।

इलियास द्वारा आरोप लगाया गया कि उनके पुत्र और कन्हैया को अलग तरह से ट्रीट किया जा रहा है। उनके अनुसार सरकार फूट डालो और शासन करो की पाॅलिसी अपना रही है। उन्होंने मीडिया ट्रायल को लेकर कहा कि उसके खिलाफ मीडिया ट्रायल इसलिए चलाया जा रहा है क्योंकि पुलिस एक मुस्लिम चेहरा चाहती है। इससे उसका केस मजबूत हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इलियास एक सोश्यल एक्टिविटस्ट हैं और वेलफेयर पार्टी आॅफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। उल्लेखनीय है कि घटना के बाद से उमर खालिद फरार है। पुलिस का कहना है कि 9 फरवरी और इसके पहले 6 फरवरी के दिनों में उमर के फोन से कई काॅल्स किए गए।

हालांकि इलियास ने अपने बेटे के बेगुनाह होने की बात कही और अपने बेटे उमर से अपील की कि वह सामने आए और कानून का सामना करे। हालांकि अपने बेटे को बेगुनाह बताने वाले इलियास बैग स्वयं ही स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट आॅफ इंडिया से जुड़े रह चुके हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि जब खालिद भी पैदा नहीं हुआ था तभी 1985 में मैंने सिमी छोड़ दिया था। उन्होंने उनके बैकग्राउंड के कारण बेटे को निशाना बनाने की बात कही।

हालांकि इलियास बैग की बातों से अधिक लोग समर्थन नहीं जता रहे हैं। उल्लेखनीय है कि इशरत जहां एनकाउंटर मामले को फर्जी बताते हुए भी यही बातें कही गई थीं कि मुसलमान होने के कारण इशरत को मारा गया जबकि बाद में डेविड हैडली ने तक बयान दिया कि इशरत जहां आत्मघाती हमलावर के तौर पर अहमदाबाद पहुंची थी।