वोट न देने के कारण मुलायम सिंह ने छीनी शिक्षामित्रों की नौकरी : उमा भारती

By Sudarshan Sharma
Sep 30 2015 01:27 PM
वोट न देने के कारण मुलायम सिंह ने छीनी शिक्षामित्रों की नौकरी : उमा भारती

झांसी : इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर निकाले गए शिक्षामित्रों के मामले में केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने समाजवादी पार्टी (सपा) मुखिया मुलायम सिंह यादव पर गंभीर आरोप लगाए हैं. सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र झांसी पहुंचीं उमा ने सपा पर जमकर हमला बोला. उन्होने कहा कि लोकसभा चुनाव में सपा को वोट न देने के कारण प्रदेश के शिक्षामित्रों को अपनी नौकरी गवानी पड़ी, न कि न्यायालय और केंद्र सरकार के कारण. उन्होंने कहा कि वह और उनकी पार्टी नौकरी से हटाए गए शिक्षामित्रों के साथ हैं.

यहाँ शिक्षामित्रों ने केंद्रीय मंत्री का घेराव करने के लिए झांसी सर्किट हाउस पहुंच गए और उमा भारती से नौकरी वापस दिलाने की मांग करने लगे. इस पर उमा भारती ने कहा कि "लोकसभा चुनाव के दौरान एक चुनावी सभा में सपा प्रमुख मुलायम सिंह ने शिक्षामित्रों से कहा था कि अगर आपने सपा को वोट नहीं दिया तो आपको नौकरी से निकाल दिया जाएगा और उन्होने वही किया." उन्होने कहा कि शिक्षामित्रों को नौकरी से हटाने में केंद्र सरकार या न्यायालय दोषी नहीं है, बल्कि प्रदेश की अखिलेश सरकार दोषी है.

क्या है मामला? 

ज्ञात हो कि प्रदेश के 175000 शिक्षामित्रों को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अपने पद से हटा दिया है. प्रदेश भर में शिक्षामित्रों ने इस फैसले के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर केंद्र सरकार से न्याय दिलाने की मांग की है.