लॉकडाउन ने तोड़ी UBER की कमर, 3700 कर्मचारियों को बाहर निकालेगी कंपनी

नई दिल्ली: कोरोना महामारी और लॉकडाउन के कारण कंपनियां को भारी असर पड़ने लगा है. हाल ही में अमेरिका और विश्व की सबसे बड़ी जिम ब्रैंड Gold Gym ने अपने आपको दिवालिया घोषित कर दिया है. लॉकडाउन के चलते अब दुनिया की सबसे बड़ी कैब सर्विस कंपनी उबर (Uber) पर भी गाज गिरी है. कंपनी ने ऐलान किया है कि आर्थिक समस्याओं के चलते उसे सैकड़ो कर्मचारियों को नौकरी से निकालना होगा.

विश्व भर में लॉकडाउन के कारण ट्रांसपोर्ट और कैब सर्विस को भारी नुकसान हुआ है. यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन (SEC) में उबर द्वारा बुधवार को दाखिल रेगुलेटरी फाइलिंग में कहा कि, 'कोरोनावायरस महामारी से पैदा हुईं आर्थिक चुनौतियों व अनिश्चितता और व्यवसाय पर इसके असर के चलते कंपनी ने अपने परिचालन खर्च को कम करने की योजना बनाई है.'

फाइलिंग में कहा गया है कि अपने राइड्स सेगमेंट में कम ट्रिप वॉल्यूम और कंपनी के वर्तमान हायरिंग फ्रीज कि वजह से उबर अपने कस्टमर सपोर्ट और रिक्रुटर्स टीम को कम कर रहा है. इसके लिए कुल 3700 फुल-टाइम कर्मचारियों को बाहर किया जाएगा. वर्कर्स को लिखे गए एक पत्र में कंपनी के CEO दारा खोसरोशाही ने कहा कि, 'हमारी राइड ट्रिप वॉल्यूम्स में भारी गिरावट आने के साथ ही कम्युनिकेशन ऑपरेशन्स सहित इन-पर्सन सपोर्ट की हमारी आवश्यकता काफी कम हो गई है और अब रिक्रुटर्स के लिए पर्याप्त काम नहीं है.'

पहली बार सिंधिया ने दिग्विजय पर कसा तंज, बोली ये बात

इस शहर में केमिकल गैस हुई लीक, 5 लोगों ने गवाई जान

कोरोना संक्रमण के बीच भारत की यात्रा करने के लिए जारी हुई एडवाइजरी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -