खरीदने जा रहे हैं अनमोल इंडिया लिमिटेड के शेयर, इन बातों का रखें ध्यान

 नई दिल्ली: स्टॉक मार्केट इन दिनों नई ऊंचाई पर बना हुआ है अगर आप बाजार की इस तेजी में कोई स्टॉक्स खरीदने की योजना बना रहे हैं तो खंबाटा सिक्योरिटीज ने अपनी नई रिपोर्ट में अनमोल इंडिया लिमिटेड के अंश खरीदने की राय दी है. इस शेयर को 255 रुपये के टारगेट के लिए खरीदारी का विकल्प दिया है. वहीं, खबर लिखते समय अनमोल इंडिया का मार्केट भाव 172 रुपये था. जिसके अतिरिक्त कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 196 करोड़ रुपये है.

NSE और BSE पर इस कंपनी को लिस्ट किया गया है. कंपनी का कारोबार आयातित कोयले की थोक आपूर्ति करना है, जो एंड-टू-एंड कोयला आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन समाधान की सुविधा देता है. कंपनी हाई जीसीवी कोयला (high GCV coal), यूएसए कोयला (USA coal), इंडोनेशियाई कोयला सऊदी पेट कोक और USA पेट कोक  की आपूर्ति करने का काम करता है, जो भारत में यूएसए कोयला बाजार का एक बड़ा भाग है.

कंपनी के पास हैं 1000 से ज्यादा ग्राहक: कंपनी के ग्राहक की बात की जाए तो कंपनी के पास 1,000 से ज्यादा कस्टमर है, जिसमें प्रत्येक वर्ष लगभग 120 नए ग्राहक जुड़ते हैं, जबकि अधिकांश बड़े ग्राहकों के साथ लंबे वक़्त से संबंध हैं. कोयले का एक थोक व्यापारी, कंपनी इंटरनेशनल मार्केट  से 1 लाख टन प्रति शिपमेंट की मात्रा में कोयले का आयात करने का काम करती है क्योंकि यह आउटबाउंड शिपमेंट में 35 टन की मात्रा में ग्राहक साइटों को कोयले की डिलीवरी की जाती है.

भारत में 16 फीसदी है USA कोल में हिस्सेदारी: रिपोर्ट्स में इस बात का खुलासा हुआ है कि 2013 में आयात लाइसेंस मिलने के उपरांत, कंपनी अब इंडिया में USA कोयले में 16 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी रखती है. हाल ही में FY22 के Q1 में अनमोल ने इंडोनेशियाई कोयले का थोक आयात का व्यापार शुरू किया गया. कंपनी का टेक प्लेटफॉर्म भी है, जिसे 2015 में लॉन्च कर दिया गया है, इसे व्यक्तिगत ग्राहक स्तर पर मांग का पूर्वानुमान लगाने में सक्षम बनाता है.

क्या बोले कंपनी के MD: अनमोल इंडिया लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और CFO विजय कुमार ने बयान देते हुए कहा है कि “हम अटकलों से बचकर परिचालन जोखिम को कम करने का काम करते हैं और इनबाउंड आपूर्ति (50 प्रतिशत से 60 प्रतिशत) का एक बड़ा हिस्सा अग्रिम रूप से बेचते हैं क्योंकि इसे डिस्पैच पोर्ट से भेज दिया जाता है.” विजय कुमार ने बोला, “हम व्यापारियों के साथ प्रभावी ढंग से बातचीत करने के लिए अपनी सौदेबाजी की शक्ति का भी उपयोग करते हैं ताकि उन्हें डॉलर के जोखिम को अधिकतम संभव सीमा तक पारित किया जा सकता है.”

एलआईसी मेगा आईपीओ: ऑफर के प्रबंधन के लिए 10 मर्चेंट बैंकर करेगा नियुक्त

अगले एक साल में बड़े पैमाने पर हायरिंग करेगी देशी सोशल मीडिया एप Koo

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत, जानिए आज का दाम

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -