रेलवे की यह हेल्पलाइन ट्रेन में चोरी या छेड़छाड़ होने पर होगी फायदेमंद

Jan 20 2016 08:02 AM
रेलवे की यह हेल्पलाइन ट्रेन में चोरी या छेड़छाड़ होने पर होगी फायदेमंद

ट्रेन में आए दिन महिलाओं के साथ छेड़छाड़ के मामले देखने में आ रहे हैं. वही ट्रेन में चोरियों की वारदात तो आम हैं ही. ऐसे में इन समस्याओं से निपटने के लिए आप रेलवे की हेल्पलाइन का उपयोग कर सकते हैं. इस हेल्पलाइन के बारे में लोगो को कम पता होता हैं इसलिए हम आज आपको इसके बारे में डिटेल में बताएंगे.
 
इस तरह ले चलती ट्रेन में मदद:

ट्रेन में चोरी, महिलाओं से छेड़छाड़ करने, दादागिरी से दूसरे की सीट पर बैठने, शराब पीने वाले लोग आए दिन मिलते रहते हैं. ऐसे में आप इसकी शिकायत हेल्पलाइन नंबर 182 पर कर सकते है. यह टोल फ्री सिक्युरिटी हेल्पलाइन नंबर 2 साल पहले लॉन्च हुई थी. इस पर कॉल करने से फौरन RPF की मदद मिलती है.
 
इसके अलावा +919717630982 नंबर पर एसएमएस करके भी आप अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं. एक और नंबर 138   एक खास रियल टाइम हेल्पलाइन नंबर है, जिसकी सहायता से आप देश में कहीं से भी कॉल कर शिकायत दर्ज करा सकते हैं. इसके अलावा आप रेलवे हेल्प लाइन नंबर 1091 और पुलिस कंट्रोल रूम डायल 100 पर भी कॉल कर सकते हैं.

कुछ इस तरह काम करती हैं यह रेलवे हेल्पलाइन:

जब भी कोई पैसेंजर सिक्युरिटी हेल्पलाइन 182 पर कॉल करता है तो लोकेशन के आधार पर यह कॉल डिविजनल कंट्रोल रूम में लगता है. जैसे ही रेलवे को इस कॉल की सूचना मिलती हैं ट्रेन में ड्यूटी कर रहे आरपीएफ जवानों को तत्काल अलर्ट कर दिया जाता है. इसके बाद करीबी आरपीएफ या जीआरपी पोस्ट पर तैनात सिक्युरिटी अफसर पैसेंजर तक पहुंचते हैं और जरूरत के अनुसार आवश्यक कार्रवाई करते हैं.