महाराष्ट्र में 'सियासी महाभारत' के बीच खड़ा हुआ ये बड़ा संकट, अलर्ट पर सुरक्षा एजेंसियां

मुंबई: महाराष्ट्र में राजनीतिक महाभारत के बीच एक और दूसरा सबसे बड़ा ख़तरा सामने आ सकता है। उसी खतरे को लेकर के कई सुरक्षा एजेंसियां ना केवल अलर्ट हुई हैं बल्कि बैठकों का दौर भी आरम्भ हो चुका है। दरअसल यह ख़तरा कुछ और नहीं बल्कि शिवसेना के विधायकों की उठापटक के बीच कानून व्यवस्था को लेकर के खड़ा हुआ है। विशेष रूप से तब जब शिवसेना के आलाकमान से जुड़े नेताओं ने असम के विधायकों को मुंबई आने पर देख लेने की चेतावनी भी जारी की है। खुफिया रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र में ऐसी ही स्थिति रही तो कानून व्यवस्था का भी ख़तरा खड़ा हो सकता है।

महाराष्ट्र में चल रहे हाई वोल्टेज पॉलिटिकल ड्रामे की सियासी चुनौतियों के साथ-साथ दी जाने वाली धमकियों से कानून व्यवस्था का ख़तरा खड़ा हो सकता है। बागी विधायकों को लेकर शिवसेना के सीनियर नेता संजय राउत कहते हैं कि उन्होंने अपने सभी विधायकों को मुंबई लौटने का न्यौता दिया था। उनका कहना है वह चाहते हैं कि सदन के पटल पर शक्ति प्रदर्शन हो। किन्तु उन्होंने यह भी बोला कि हमने अपने सभी विधायकों को मुंबई वापस आने का आमंत्रण दिया था। अब हम उन्हें मुंबई आने की चुनौती दे रहे हैं। शिवसेना के नेताओं की तरफ से इस बात का भी जिक्र किया गया है कि अभी शिवसेना के कार्यकर्ता बागी विधायकों के विरुद्ध सड़कों पर नहीं उतरेंगे। नेताओं ने बताया है कि कार्यकर्ताओं के सड़कों पर उतरने का विकल्प भी खुला हुआ है।

शिवसेना के नेताओं के इस बयान के पश्चात् महाराष्ट्र पुलिस न केवल सक्रिय हुई है, बल्कि केंद्रीय जांच एजेंसियां ने इस पूरे मामले पर नजर बना ली है। खुफिया जांच एजेंसी से संबंधित महाराष्ट्र के एक पुलिस अफसर का कहना है कि फिलहाल अभी कोई ऐसे हालात तो नजर नहीं आ रही है जिसमें कानून व्यवस्था बिगड़ रही हो। किन्तु पुलिस बल इस पूरे मामले में न केवल मुस्तैद है बल्कि पल-पल का अपडेट भी आला अफसरों तक पहुंचाया जा रहा है।

'उद्धव सरकार को लगी है सुशांत सिंह की आह' BJP के इस नेता ने दिया बड़ा बयान

एकनाथ शिंदे को लेकर डिप्टी स्पीकर ने दिया बड़ा बयान, लगाए ये आरोप

CM उद्धव की नई चाल, अब छुट्टी मनाने पहुंचे असम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -