मौसम बिगड़ने के पूरे आसार, कई इलाकों में जमकर हो सकती है बारिश

 

जुलाई का माह चल रहा है और यह महीने बरसात के लिए जाना जाता है. लेकिन, पुराने लोगों के अनुसार, उतनी बरसात नहीं हुई है, जितनी होनी चाहिए. बता दें कि ये बात उत्तर भारत के कुछ प्रदेशों के लिए कही गई है. बाकी बिहार और महाराष्ट्र में भारी बरसात से बाढ़ की नौबत आ गई है. साथ ही, असम में बाढ़ से लाखों लोग जन जीवन प्रभावित हुआ हैं. वहीं, आने वाले मौसम की बात करें तो कई प्रदेशों में भारी बरसात का अलर्ट जारी किया गया है. वही, दिल्ली-NCR और आसपास के क्षेत्रों की बात करें तो वहां भी मौसम बीते कई दिनों से खराब चल रहा है. वही, कुछ क्षेत्रों में बूंदाबांदी की भी न्यूज मिली. अब मौसम विभाग ने कुछ जिलों  के लिए अलग से ही चेतावनी जारी की है.

माँ-बेटी के प्रेम को हरा नहीं सका कोरोना, नन्हीं बच्ची से इस तरह मिलती है पीड़ित डॉक्टर

देश के मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा कि सौराष्ट्र-कच्छ, अरुणाचल प्रदेश-असम-मेघालय में भिन्न भिन्न स्थानों पर भारी से बहुत भारी बरसात और हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, गुजरात क्षेत्र, मध्य महाराष्ट्र, कोंकण और गोवा, तेलंगाना, तटीय कर्नाटक और केरल-माहे में पृथक स्थानों पर भारी वर्षा का अलर्ट जारी किया गया है. इसके अलावा पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में भी भारी बरसात की चेतावनी जारी की गई है. 

असम में NDRF के सामने दोहरी चुनौती, कोरोना काल में बाढ़ ने बढ़ाई मुसीबत

विदित हो कि उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, गांगेय पश्चिम बंगाल, असम-मेघालय, नागालैंड, मणिपुर,  पूर्वी राजस्थान, बिहार, झारखंड, मिजोरम-त्रिपुरा, केरल-माहे, तमिलनाडु-पुडुचेरी, तटीय आंध्र प्रदेश-यनम और रायलसीमा में अलग-अलग हिस्सो पर गरज के साथ आंधी तूफान की चेतावनी जारी की गई है. 

सावन 2020 : ब्रह्मा-विष्णु के भी रचयिता हैं भगवान शिव, जानिए कैसे ?

अब नोटों से नहीं फैलेगा कोरोना वायरस, भारतीय युवक ने खोज निकाला इसका तोड़

Bhuj : धाकड़ और बेहद धाँसू दिखीं सोनाक्षी, सामने आया पहला लुक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -