वो घटना जिसने कमल सदाना के जन्मदिन को मातम में बदल लिया था

वो घटना जिसने कमल सदाना के जन्मदिन को मातम में बदल लिया था

कैसा हो कि आपके बर्थडे पर ही आपके माता-पिता तथा बहन की एक साथ मृत्यु हो जाए। ये सोच कर भी रूह कांप जाती है। सोचिए ऐसा हादसा जिसके जीवन में घटा होगा वो खुद को कितना अभागा समझता होगा। ये एक अभिनेता की सच्ची कहानी है। फिल्म 'बेखुदी' से अपने फिल्मी करियर का आरम्भ करने वाले कमल सदाना को शायद आप भूल चुके होंगे। 21 अक्टूबर 1970 को जन्मे इस अभिनेता का आज बर्थडे है। आज हम कमल के बारे में ऐसे किस्से बताएंगे जिससे आपके जहन उनकी मूवीज की यादें एक बार फिर ताजा हो जाएंगी। कमल की 'बेखुदी' वर्ष 1992 मे आई थी। इस मूवी में उनके साथ काजोल ने कार्य किया था। 

वही अब कमल 49 वर्ष के हो चुके हैं तथा उनकी मूवी की यादें धुंधली हो गई हैं। उन्हें एक्टिंग छोड़े जमाना गुजर गया। कुछ वक़्त पूर्व कमल ने एक इंटरव्यू में अपनी पहली मूवी के किस्से को साझा किया था। कमल ने बताया, 'इस मूवी के सीन में मैं काजोल के भाई को मारता हूं। इस बात से क्रोधित होकर काजोल को मुझे मारना होता है।' वही कमल ने आगे कहा, 'ये सीन एक बार में सही नहीं होता तथा इसके लिए निर्देशक 10 रीटेक लेते हैं। काजोल के चांटे खा-खाकर मेरा चेहरा तरबूज की भांति लाल हो गया था।' जब ये मूवी रिलीज हुई थी तो कुछ विशेष कमाल नहीं दिखा पाई थी किन्तु इसके पश्चात् कमल ने फिल्म 'रंग' में काम किया था।

मूवी रंग ने बॉक्सऑफिस पर खासी कमाई की थी। इस मूवी से कमल का करियर चमक उठा किन्तु बाद की फिल्मों में उनका ग्राफ गिरता चला गया। इस कारण कमल बतौर हीरो स्वयं को स्टैबलिश नहीं कर पाए। कमल की वास्तविक जिंदगी बहुत दुख भरी रही। कमल के 20वें बर्थडे पर उनके पिता बृज सदाना ने उनकी मां तथा बहन को गोली मार दी थी।

भाई के प्री-वेड‍िंग सेलिब्रेशन में बहुत खूबसूरत नजर आईं कंगना और रंगोली

सारा गुरपाल के नए फोटोशूट ने मचाया धमाल

प्रियंका चोपड़ा को अपनी भतीजी की याद आई, शेयर की तस्वीर