आतंकी नावेद को सता रही है माता-पिता की याद

जम्मू : अब तक आपने यही सुना होगा कि आतंकियों को कड़ा प्रशिक्षण देकर पत्थर दिल बना दिया जाता है। ऐसा दिल जो दिल न होकर पत्थर हो जाता है और जिसमें जज़्बातों के लिए कोई जगह नहीं होती है होता है तो बस जेहाद का जुनून. लेकिन अब यह बात खोखली साबित होती नज़र आ रही है। जी हां, मुंबई हमलों के आरोपी कसाब को जब पकड़ा गया था तब भी इसी तरह की कुछ बातें सामने आई थीं और अब उधमपुर से पकड़े गए आतंकी नावेद को लेकर भी इसी तरह की बातें सामने आ रही हैं।

हाल ही में नावेद ने एनआईए के अधिकारियों के सामने पाकिस्तान में रहने वाले अपने माता-पिता से मिलने की इच्छा जताई। इस दौरान यह जानकारी भी सामने आई कि आतंकी नावेद के साथ अन्य लोग भी थे लेकिन अब तक वे सुरक्षा बलों को नहीं मिले हैं। जिनकी तलाश की जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार नावेद द्वारा जम्मू-काश्मीर की अदालत के सामने भी यही कहा गया कि वह अपने माता पिता से मिलना चाहता है।

फिर उसने एनआईए के अधिकारियों से भी यही बात कही। नावेद के ही साथ उसकी सहायता करने वाले स्थानीय नागरिक शौकत और खुर्शीद को अदालत में प्रस्तुत किया गया। फिलहाल इन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। उल्लेखनीय है कि अगस्त माह में जम्मू के काफिले पर हमला करने वाले आतंकियों में नावेद भी शामिल था। आतंकी मुठभेड़ के दौरान भागकर गांव में घुस गए थे। इस दौरान नावेद को ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों ने बाॅर्डर से कुछ दूरी पर पकड़ा था। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -