क्या टाटा का हो जाएगा Air India ?, इस महीने लग सकती है बोली

नई दिल्ली: सरकारी एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया को खरीदने की रेस में सबसे आगे टाटा संस लिमिटेड और सरकार के बीच सौदा जल्द ही पूरा हो सकता है। सूत्रों से पता लगा है कि टाटा इस महीने के आखिर से पहले अपनी बोली दर्ज कराएगा। बता दें कि केंद्र सरकार, कर्ज में डूबी एयर इंडिया को बेचना चाहती है। 2007 में राज्य-संचालित इंडियन एयरलाइंस के साथ मर्ज होने के बाद एयरलाइन का वार्षिक प्रोफिट गिर गया। 

आगामी वर्षों में बड़ी तादाद में एयर इंडिया के कर्मचारी रिटायर होने वाले हैं। ऐसे में कंपनी की ओनरशिप कर्मचारियों के लिए एक संवेदनशील मुद्दा है। वे चाहते हैं कि ओनरशिप किसी को भी जाए, किन्तु सरकार पेंशन से जुड़े मामलों का ध्यान रखे। बता दें कि एयर इंडिया को टाटा ग्रुप ने ही वर्ष 1932 में आरंभ किया था। बाद में 1953 में इसे सरकार को बेच दिया गया। अब एक बार फिर टाटा ग्रुप एयर इंडिया को अपना बनाना चाहता है। सरकार को उम्मीद है कि एयर इंडिया का विनिवेश अगले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही तक पूरा हो जाएगा।

इस वक़्त एयर इंडिया पर 90000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है। अनुमान है कि मौजूदा वित्त वर्ष में एयर इंडिया 10000 करोड़ रुपये का नुकसान दर्ज करेगी। टाटा ग्रुप एयर इंडिया के लिए अपनी बिड एयर एशिया इंडिया के माध्यम से लगाने वाला है। एयर एशिया इंडिया में टाटा ग्रुप के पास कंट्रोलिंग स्टेक है। वहीं अजय सिंह ने मिडिल ईस्ट के सॉवरेन फंड के साथ मिलकर एयर इंडिया को खरीदने का प्लान बनाया है।

सेंसेक्स, निफ्टी में तेजी, जानिए क्या है बाजार का हाल

इस सप्ताह बाजार में होगी कड़ी प्रतियोगिता

ब्याज माफी पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, कहा- "PSU को लेना पड़ सकता है..."

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -