अफ़ग़ानिस्तान में तबाही मचाने के बाद 'दोस्त' चीन से मिलने पहुंचा तालिबान, मुलाकात पर भारत की नज़र

बीजिंग: मुल्ला बरादर की अगुवाई में एक उच्च स्तरीय तालिबान प्रतिनिधिमंडल चीन पहुंचा है। अमेरिकी फौजों की वापसी की घोषणा के बाद ऐसा पहली बार है जब तालिबानी नेता चीन दौरे पर गए हैं। इस दौरे के दौरान तालिबानी नेताओं की चीन के विदेश मंत्री वांग यी के साथ मुलाकात हुई। सियासी हलकों में अफगानिस्‍तान को लेकर यह मुलाकात बेहद अहम मानी जा रही है।

भारतीय सुरक्षा सूत्रों के मुताबिक, अफगानिस्तान में गंभीर स्थिति के बीच तालिबान की चीन से मुलाकात कोई नया गुल खिला सकती है और वे घटनाक्रम पर निगाह बनाए हुए हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों पक्षों के बीच चीन के तिआनजिन शहर में बैठक हुई। इस दौरान, चीनी विदेश मंत्री वांग यी, उप विदेश मंत्री और अफगानिस्तान के लिए चीनी विशेष प्रतिनिधि के साथ अलग-अलग मुलाकातें हुईं, जिनमें दोनों देशों से जुड़े सियासी, आर्थिक और सुरक्षा मुद्दों के अलावा उइगरों व अफगानिस्तान की मौजूदा स्थिति और शांति प्रक्रिया पर केंद्रित रहीं। 

रिपोर्टों के मुताबिक, तालिबान प्रतिनिधिमंडल ने चीनी विदेश मंत्री वांग यू के साथ अन्य द्विपक्षीय मामलों के साथ ही युद्धग्रस्त देश अफगानिस्तान में 'शांति प्रयासों' पर वार्ता की। चीन ने अफगान लोगों के साथ अपने सहयोग को जारी रखने और विस्तार करने का वादा करने हुए कहा कि वे अफगानिस्तान के मामलों में दखल नहीं करेंगे और समस्याओं को सुलझाने और शांति लाने में सहायता करेंगे। 

सीडीसी ने अमेरिकियों को फिर से घर के अंदर मास्क पहनने की दी सलाह

मार्टिन शकरेली द्वारा खरीदा गया वू-तांग कबी ले की निमाली करेगा अमेरिका

पुलिसकर्मी का बड़ा बयान, कहा- "उसे डर था कि वह मर जाएगा..."

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -