इस तरह चढ़ाएं सूर्यदेव को जल

Aug 17 2018 06:00 PM
इस तरह चढ़ाएं सूर्यदेव को जल

सूर्य विज्ञान की दृष्टि से मानव जीवन के लिए अहम है ही लेकिन शास्त्र की दृष्टि से भी इसका बड़ा महत्व है. रविवार का दिन सूर्य देव को समर्पित है. यह वो खास दिन है, जब सूर्य देव को प्रसन्न किया जा सकता है. सूर्य देव की प्रसन्नता से मानव जीवन की हर समस्या का समाधान हो जाता है. लेकिन इसी के साथ आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि सूर्य देव को प्रसन्न करने में कोई भूल ना करें. तो हम आपको बता देते हैं सूर्य देव को आप किस तरह प्रसन्न कर सकते हैं.

माना जाता है कि प्रात:काल सूर्य देव के दर्शन करने से मन को बेहतर कार्य करने की प्रेरणा मिलती है. सुबह पहले स्नान करने के बाद सूर्य देव को जल चढ़ाएं. कहा जाता है ऐसा करना स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी होता है. सूर्य को तांबे के लोटे से जल अर्पित करना चाहिए. इतना ही नहीं जल चढ़ाते समय जल की धारा के बीच से उगते सूर्य को देखने से आंखों की रोशनी बढ़ती है.

सूर्य की किरणों से शरीर को विटामिन D मिलता है. इसके बाद जैसे-जैसे सूर्य की गर्मी बढ़ती जाती है, वह हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती जाती है. इसीलिए सुबह-सुबह ही सूर्य को जल चढ़ाया जाता है.

इस तरह चढ़ाएं सूर्य को जल- सूर्य को जल चढ़ाते समय तांबे का लोटे इस्तेमाल करना चाहिए. लोटे में चावल, रोली, फूल-पत्तियां डाल सकते हैं. सूर्य को जल अर्पित करते समय गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए.

ऐसे मनाएं पारसी नववर्ष को खास

शादी के लिए मनचाहा वर देता है रंग बदलता शिवलिंग

क्या आप जानते हैं हर महिला के होते हैं चार पति

रातोंरात किस्मत बदल सकती है फिटकरी