जान जोखिम में डालकर सुनील ने जीता था नरगिस का दिल

बॉलीवुड में कई बेहतरीन फ़िल्में करने वाले सुनील दत्त का निधन आज ही के दिन हुआ था. आप सभी को बता दें कि उनका निधन 25 मई 2005, में हुआ था. जी दरअसल सुनील का जन्म 6 जून 1929 को हुआ था और उनका असली नाम बलराज दत्त था. वह भारतीय फिल्मों के विख्यात अभिनेता, निर्माता और निर्देशक थे. वहीं अब आज उनकी पुण्यतिथि है. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं सुनील दत्त और नरगिस दत्त की लव स्टोरी.

जी दरअसल सुनील दत्त को बचपन से ही अभिनेता बनने का शौक था. वहीं अपने सिने करियर की शुरूआत उन्होंने साल 1955 में प्रदर्शित फिल्म रेलवे प्लेटफार्म से की थी. इस फिल्म के बाद उन्होंने कुंदन, राजधानी, किस्मत का खेल और पायल जैसी कई बी ग्रेड फिल्मों मे अभिनय किया लेकिन इनमें से कोई भी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सफल नहीं हुई. वहीं फ्लॉप होने की कगार पर पहुँच चुके सुनील दत्त की किस्मत का सितारा साल 1957 में प्रदर्शित फिल्म 'मदर इंडिया' से चमका. जी दरअसल इस फिल्म में सुनील दत्त का किरदार एंटी हीरो का था और यही से शुरू हुआ था और उनकी और नरगिस की मोहब्बत का किस्सा. जी दरअसल 'मदर इंडिया' के सेट पर आग लग गई थी और नरगिस दत्त को खतरे में पड़ता देख सुनील दत्त ने उनकी जान बचाई थी.

वहीं इस दौरान सुनील दत्त खुद भी चोटिल हो गए थे. यह सब होने के बाद ही नरगिस को लगने लगा कि सुनील दत्त ही उनकी जिंदगी के हमसफर बन सकते हैं. जी दरअसल अपनी किताब 'द ट्रू लव स्टोरी ऑफ़ नरगिस एंड सुनील दत्त ' में नरगिस दत्त ने लिखा था कि ''राजकपूर से अलग होने के बाद वो सुसाइड करने के बारे में सोचने लगी थीं. लेकिन सुनील दत्त ने उन्हें संभाल लिया था.'' इसी के साथ नरगिस ने लिखा कि ''उन्होंने अपने और राज कपूर के बारे में सुनील दत्त को सबकुछ बता दिया था और सुनील दत्त को उन पर पूरा यकीन था.'' वहीं शादी के बाद सुनील पहले की तरह फिल्मों में काम करते रहे, लेकिन नरगिस ने बच्चों को जन्म देने के लिए फिल्मों से ब्रेक लिया. वहीं अब सुनील और नरगिस दोनों ही इस दुनिया में नहीं है.

करीना ने शेयर की बंगाल की तस्वीरें, लिखा दिल छू लेने वाला कैप्शन

बड़े स्टार्स के सामने नवाज़ुद्दीन करते थे पत्नी की बेइज्जती, खुला बड़ा राज

20 साल की होने की ख़ुशी में सुहाना ने करवाया नया फोटोशूट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -