'I hate my life' ल‍िखकर फंदे पर झूल गई 9वीं की छात्रा, परिजन का हाल हुआ बेहाल

दुर्ग: कोरोना संकट के बीच छत्तीसगढ़ के दुर्ग एवं भिलाई में दो आत्महत्या के केस दर्ज हुए हैं। दोनों युवतियों अपने पीछे कई रहस्य छोड़कर चली गईं। एक ने जीवन से नाता तोड़ने से पहले अपने स्मार्टफोन को फॉर्मेट कर दिया तो दूसरी छात्रा ने अपनी पुस्तक पर 50 अलग-अलग पन्नों में 'I HATE MY LIFE' लिखा है। दो छात्राओं के इस कदम से हर कोई हैरान है। 

पहले सुसाइड की घटना भिलाई के खुर्सीपार थाना अंतर्गत 16 साल की नाबालिग एम चांदनी ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। परिजन स्तब्ध हैं। उन्हें कुछ समझ नहीं आ रहा है कि आखिर ये क्या हो गया? कहते हैं कि घटना के समय उसके माता-पिता परिचित की सेहत का पता लगाने के लिए कहीं गए थे। परिवार वालों के आने के पश्चात् पुलिस ने फंदा काटकर शव नीचे उतारा। शव को पीएम के लिए भेजा। पुलिस को मौके पर एक कॉपी प्राप्त हुई है जिसके 50 पन्नों पर नाबालिग ने अंग्रेजी में 'आई हेट माई लाइफ' लिखा है। कुछ पन्नों पर उसने युवक-युवती के साथ बैठने के फोटो भी बनाई है। एक पन्ने पर अकेली बैठी युवती का स्कैच बना हुआ है। 

वही अब तक की पड़ताल में पुलिस को यह भी पता चला है कि चांदनी कक्षा 9वीं में पढ़ाई करती थी। प्रातः माता-पिता कहीं चले गए थे। स्वयं को अकेला पाकर शाम को छात्रा ने आत्महत्या कर ली। आस-पड़ोस वालों ने पुलिस और उसके परिवार वालीं को खबर दी। इसके पश्चात् घटना का पता चल पाया। परिवार वालों ने बताया कि चांदनी की एक युवक से मित्रता थी। फिलहाल दोनों मामले में पुलिस मर्ग कायम कर विवेचना में जुटी।

पिता की हरकतों से तंग आ चुकी थी दो नाबालिग बच्चियां, कुल्हाड़ी से काटकर मार डाला

अतिरिक्त तटस्थ शराब की बिक्री में भूमिका के लिए पुलिस ने 3 लोगों को किया गिरफ्तार

लोगों की जान बचाने वाले डॉक्टर कपल ने मौत को लगाया गले, जानिए क्या है पूरा मामला?

Most Popular

- Sponsored Advert -