अगर हिन्दू आबादी 80 प्रतिशत से कम हुई, तो समझ लेना देश संकट में है - सुब्रमण्यम स्वामी

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि जिस दिन देश में हिंदुओं की आबादी 80 प्रतिशत से कम हो गई, उस दिन समझ लेना देश खतरे में है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा है कि, 'भारतीय जनता सच्चाई जानती हैं। हिंदुओं ने विदेशी आक्रमणकारियों को उखाड़ फेंकने के लिए सदियों तक संघर्ष किया, इसमें पहले इस्लामिक और दूसरा क्रिश्चियन है।

जम्मू में गरजे अमित शाह, कहा- जहाँ हुए बलिदान मुखर्जी, वो कश्मीर हमारा है

स्वामी ने कहा है कि हिंदुओं ने इसके लिए अपने 750 वर्ष लगा दिए और गरीब हुए किन्तु आखिरकार लड़ाई जीत ली। वर्ष 1947 में ब्रेनवॉश हिंदुओं ने सत्ता पर कब्जा जमा लिया। लेकिन अब इसे दोहराया नहीं जाना चाहिए।' भाजपा सांसद ने कहा है कि, 'हम हिंदुओं को पता है कि भारत में रहने वाले सभी मुस्लिमों और किश्चियनों के पूर्वज हिंदू ही थे। (जैसा कि डीएनए रिपोर्ट में दिखाया गया है।) वर्तमान के हिंदुस्तान में सभी एक परिवार की तरह एक साथ हैं। इसका आशय यह है कि हमारी संस्कृति एक है। यह कहीं से उधार ली हुई या कहीं और से आई हुई नहीं है।'

मायावती के बाद अब अखिलेश ने भी पीएम मोदी को घेरा, कही बड़ी बात

स्वामी ने कहा है कि, 'भारत में हिंदुओं का जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करने, उन्हें बहकाने या प्रेरित करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। यदि भारत में हिंदुओं (सिख, जैन, बुद्ध- आर्टिकल 25) की तादाद 80 प्रतिशत से कम होती है तो ये देश के लिए खतरे की घंटी होगी।'

खबरें और भी:-

पीएम मोदी ने शुरू की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, मायावती ने बताया अन्नदाताओं का अपमान

कश्मीर समस्या को लेकर फ़रूक अब्दुल्ला ने की राजनाथ सिंह से चर्चा

मनी लॉन्ड्रिंग मामला: भावुक हुए रॉबर्ट वाड्रा, फेसबुक पर लिखी ऐसी post

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -