JNU कुलपति के तौर पर सुब्रह्मण्यम स्वामी की नियुक्ति का हो रहा विरोध

Sep 25 2015 02:56 PM
JNU कुलपति के तौर पर सुब्रह्मण्यम स्वामी की नियुक्ति का हो रहा विरोध

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी को दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के कुलपति नियुक्ति किए जाने की कवायदें की जा रही हैं लेकिन इन प्रयासों का जेएनयू में विरोध हो रहा है। छात्र संगठन कुलपति के तौर पर स्वामी का विरोध कर रहे हैं। छात्र संघ द्वारा स्वामी को प्रतिगामी सोच वाला व्यक्ति बताया गया है। इस मामले में यह भी कहा गया कि स्वामी की नियुक्ति का जमकर विरोध किया जाएगा। 

मामले में यह बात सामने आई है कि छात्र संगठन जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय का भगवाकरण नहीं होने देगा। विभिन्न राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं ने कहा कि जेएनयू कुलपति के तौर पर स्वामी की नियुक्ति नियम विरूद्ध है। इसके लिए आवेदक की आयु सीमा 65 वर्ष होना जरूरी है। 

मगर स्वामी की आयु तो इससे अधिक है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा सुब्रह्मण्यम स्वामी को कुलपति के पद पर पदस्थ करने की पेशकश की गई मगर जेएनयू छात्र संगठन संघ के सदस्यों का विवि में दखल नहीं होने देगा। मामले में यह बात सामने आई है कि अल्पसंख्यकों के विरूद्ध उनके बयानों के बाद उनके द्वारा पढ़ाए जा रहे दो पाठ्यक्रमों को बंद कर दिया गया।