श्रीलंका के राष्ट्रपति ने कहा नहीें कराएंगे मध्यावधि चुनाव

Nov 09 2018 05:01 PM
श्रीलंका के राष्ट्रपति ने कहा नहीें कराएंगे मध्यावधि चुनाव

कोलंबो: श्रीलंका में इस समय राजनैतिक संकट आया हुआ है। जिससे राष्ट्रपति सिरिसेन की मुसीबतें लगातार ही बढ़ती जा रही हैं। जानकारी के अनुसार बता दें कि श्रीलंका में उपजे सियासी और संवैधानिक संकट के खत्म होने का फिलहाल कोई संकेत नहीं मिल रहा है। वहीं राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेन ने अब ये स्पष्ट रूप से कह दिया है कि वह मौजूदा संकट को खत्म करने के लिए मध्यावधि चुनाव या जनमत संग्रह नहीं कराएंगे।

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन ने वित्तमंत्री को किया निष्काषित

यहां बता दें ​कि बीते कुछ दिनों से लगातार ही सिरिसेन से संबंधित बयान मीडिया में आ रहे हैं। हाल में राष्ट्रपति द्वारा भारतीय तमिल लोगों के लिए श्रीलंका जेल से आजाद करने की भी बात की गई थी। जिसके बाद से अब तक राष्ट्रपति द्वारा उस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। वहीं सिरिसेन की श्रीलंका फ्रीडम पार्टी की केंद्रीय समिति की गुरुवार रात हुई बैठक के बाद पार्टी महासचिव रोहन लक्ष्मण पियादास ने बताया कि राष्ट्रपति संसद को भंग करना या जनमत संग्रह नहीं कराना चाहते हैं। 

 नेपाल का वीसा लेकर भारत में घुसे चीनी सैलानी, सेना ने किया नेपाल पुलिस के हवाले

गौरतलब है कि श्रीलंका में इस वक्त राजनैतिक हालात कुछ ठीक नहीं चल रहे हैं। वहीं इस तरह  के बयानों के कारण राजनैतिक पार्टियां भी आश्चर्य में पड़ गई हैं। यहां बता दें कि मौजूदा संसद का कार्यकाल अगस्त 2020 तक है। वहीं सिरिसेन द्वारा जारी किए गए बयान से अब सभी अटकलों पर विराम लग गया है। जानकारी के अनुसार बता दें कि हाल में भारत के इस पड़ोसी देश में सियासी संकट उस समय खड़ा हो गया था जब सिरिसेन ने प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को हटाकर पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे को पीएम नियुक्त कर दिया। 

खबरें और भी 

अफगानिस्तान में गंभीर आतंकी हमले, 10 जवानों और 7 पुलिसकर्मियों की मौत

पिछले 14 सालों में अमेरिका ने ड्रोन हमलों से मार गिराए पकिस्तान के 2000 से अधिक आतंकी

जूनियर विश्व चैम्पियनशिप: दक्षिण कोरिया से हारने के बाद भारत ने डेनमार्क पर दर्ज की जीत

?