जल्द ही OTT पर रिलीज की जाएगी सॉउथ की मूवी

एक बार फिर ये बात लोगों की ज़ुबान पर आने लगी है कि थियेटर में पब्लिक आ ही नहीं रही है. थियेटर में आने की बजाय वो मूवी के OTT पर रिलीज़ होने की बात की जाने लगी है. हाल-फ़िलहाल में हिंदी मूवीज में कश्मीर फ़ाइल्स (वजहें अलग हैं) और भूल भुलैया ही थोड़ी-बहुत भीड़ ख़ुद तक खींच कर ला चुके है. बाकी, कोविड-काल के उपरांत सिर्फ़ KGF और RRR ही वो फ़िल्में दिखाई दे रही है जिन्हें खचाखच भरी सीटें नसीब हुई हैं. इसी सब के मध्य हिंदी और मातृभाषा की पूरी भसड़ तेज़ हुई और इसमें मूवी इंडस्ट्री के बड़े नाम अपनी-अपनी बात रखते हुए  दिखाई दिए. मालूम पड़ा कि एक दक्षिण इंडिया के ग़ैर-हिंदी स्टार ने बोला है दिया कि हिंदी मूवी इंडस्ट्री उन्हें अफ़ोर्ड ही नहीं कर सकती है. यहां हम इस बहस में नहीं जायेंगे और न ही किसी प्रकार का ज्ञान देने वाले है. फ़िलहाल, आप ये जान सकते हैं कि अगर निरंतर ढीले होते जा रहे हिंदी कॉन्टेंट से उकता चुके हैं (गुल्लक 3 और पंचायत आप निपटा चुके हैं) और दक्षिण भारतीय मूवी देखना पसंद है तो हम आपके लिए लेकर आए है कुछ खास मूवी...

1. जोसेफ़ (2018): डायरेक्टर एम पद्माकुमार की इस मूवी में जोजू जॉर्ज हैं जिनकी स्क्रीन प्रेज़ेंस बेहद ही खास है. उन्होंने एक रिटायर हो चुके तलाकशुदा पुलिसवाले की भूमिका निभायी है जो तसल्ली से शराब का सेवन कर रहा है और नाना प्रकार के नशों से उसे कोई गुरेज नहीं होने वाले है. इस किरदार का नाम जोसेफ़ है. जोसेफ़ एक बेहतरीन इन्वेस्टिगेटर है और वो छोटी से छोटी बात पकड़कर अपराधी को खोज कर निकाल चुके है. मूवी की कहानी आगे बढ़ती है और जोसेफ़ की पूर्व पत्नी स्टेला का एक रोड एक्सीडेंट का शिकार हो जाते है और कुछ दिनों में अस्पताल में उसकी मौत हो जाती है. जोसेफ़ को यकीन है कि रोड एक्सीडेंट असल में एक सोची-समझी साज़िश थी और स्टेला की क़त्ल कर दिया गया था. यूं ही कहानी आगे बढ़ती है और जोसेफ़ एक बहुत बड़े राज़ का पर्दाफाश करता है.

 

2. मालिक (2021): मालिक एक पोलिटिकल थ्रिलर मूवी है जिसमें फ़हाद फ़ाज़िल सुलेमान नाम के रोल को प्ले कर रहे में हैं. मूवी शुरू होती है और मालूम चलता है कि सुलेमान एक बड़ी राजनीतिक हस्ती है जो एक धड़े का मसीहा बन चुका है. ये भी मालूम चलता है कि विपक्षी खेमा उसे खत्म कर देना चाहता है और उसे मारे जाने की प्लानिंग चल रही है. इसी बीच मूवी फ़्लैशबैक में जाती है और समझ में आता है कि कैसे एक कस्बे का छोटा सा गुंडा मालिक बन चुका है. ये कस्बा मुस्लिम बनाम ईसाई के संघर्ष का गवाह बन रहा था और इस सब के केंद्र में था सुलेमान.  मूवी महेश नारायणन ने डायरेक्ट की है जिन्होंने इससे पहले सी यू सून, टेक ऑफ़ जैसी मूवी बनायी थीं. मूवी में फ़हाद फ़ाज़िल की शानदार ऐक्टिंग है और मूवी सांप्रदायिक टकरावों के कई आयामों को बगैर पार्टी बने आपके सामने रखती है.

 

धनुष संग दिए बेड सीन्स पर मालविका से पूछा गया अजीब सवाल तो एक्ट्रेस ने कह डाली ये बात

Salaar के सेट से सामने आया प्रभास का लुक

बिग बॉस की इस विनर के हाथ लगी साउथ की सबसे बड़ी मूवी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -