चक्रवात का छाया खौफ, पीएम मोदी ने बुलाई अहम् बैठक

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने चक्रवात ‘जवाद’ से निपटने की राज्यों, सेंट्रल गवर्नमेंट के मंत्रालयों और संबंधित एजेंसियों की तैयारियों की एक उच्च स्तरीय बैठक में समीक्षा की और अधिकारियों को जान व माल की सुऱक्षा सुनिश्चित करने के आदेश जारी कर दिए है. PMO के अनुसार पीएम ने अधिकारियों को लोगों को सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचाने के लिए हरसंभव प्रयास करने में लगे हुए है, बिजली, दूरसंचार, स्वास्थ्य और पेयजल जैसी जौरी सेवाओं का रखरखाव सुनिश्चित करने व इनमें किसी प्रकार की बाधा उत्पन्न होने पर उन्हें तत्काल बहाल करने के आदेश भी जारी कर दिए गए है. प्रधानमन्त्री मोदी ने दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता और उनकी आपूर्ति सुनिश्चित करने और निर्बाध आवागमन सुनिश्चित करने के साथ ही 24 घंटे काम करने वाले कंट्रोल रूम स्थापित करने का आदेश जारी कर दिए गए है.

क्या हैं तैयारियां?: गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को SDRF की पहली किस्त अग्रिम तौर पर जारी कर दी है। NDRF ने 29 टीमों को पहले से तैनात किया है, जो राज्यों में नावों, पेड़ काटने की मशीन, दूरसंचार उपकरणों से भरपूर है और 33 टीमों को स्टैंडबाय पर तैनात कर दिया गया है. एहतियात के अंतर्गत भारतीय तटरक्षक बल और नौसेना ने राहत, खोज और बचाव कार्यों के लिए जहाज तथा हेलीकॉप्टर तैनात कर दिए गए है जबकि वायु सेना तथा थल सेना की इंजीनियर टास्क फोर्स इकाइयां, नावों और बचाव उपकरणों के साथ तैनाती कर चुके है. NDRF संवेदनशील स्थानों से लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए राज्य एजेंसियों को उनकी तैयारियों में मदद कर रहा है और चक्रवात की स्थिति से निपटने के लिए निरंतर सामुदायिक जागरूकता अभियान भी चला रहा है.

कैसे होता है तूफानों का नामकरण: जहां इस बात का पता चला है कि चक्रवातों के नामकरण की शुरूआत अटलांटिक इलाके में 1953 में हुई एक संधि से की जा चुकी है. जबकि हिंद महासागर क्षेत्र में यह व्यवस्था वर्ष 2004 से आरम्भ हो चुकी है. किसी भी साइक्लोन के नामकरण के लिए सदस्य देश अपनी ओर से नामों की लिस्ट भी जारी की जा चुकी है. जिसके उपरांत उनकी अल्फाबेटिकल लिस्टिंग की जाने वाली है. उसी क्रम में सुझाए गए नाम पर तूफानी चक्रवातों का नामकरण होता है. हर बार अलग-अलग देशों का क्रम से नंबर आता है और इसी क्रम में जिस देश ने जो नाम दिया चक्रवात का नाम उसी देश के द्वारा दिए गए नाम पर पड़ जाता है.

रामनगरी को मिली बम से उड़ाने की धमकी, प्रशासन में मचा हड़कंप

पेट्रोल की बढ़ती कीमत पर कोई लगाम नहीं, जानिए क्या है आज का भाव

Omicron India: 6 लोग ओमिक्रोन पॉजिटिव, दिल्ली-हैदराबाद से जामनगर तक दहशत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -