भूल-चूक की भरपाई के लिए सर्व पितृ अमावस्या पर ऐसे करें श्राद्ध

पितृ पक्ष के 16 दिन पूर्वजों को समर्पित होते हैं। इन दिनों में पितरों को यमराज की तरफ से आजाद कर दिया जाता है। वहीं इन दिनों में पूर्वज पृथ्वी पर अपने वंशजों के बीच आते हैं और उनसे अन्न जल की अपेक्षा रखते हैं। ऐसे में पूर्वजों की इस आशा को पूरा करने के लिए ही श्राद्ध और तर्पण किया जाता हैं। शास्त्रों के अनुसार श्राद्ध और तर्पण के जरिए ही पितरों को अन्न और जल प्राप्त होता है। कहा जाता है जिस तिथि में परिजन की मृत्यु होती है, श्राद्ध पक्ष की उसी तिथि में उनका श्राद्ध किया जाता है। हालाँकि अगर आपको किसी कारणवश उनकी मृत्यु की तिथि याद नहीं है, तो आप अपनी इस भूल को सुधारते हुए अमावस्या के दिन उनका श्राद्ध कर सकते हैं। जी हाँ, पितृपक्ष की अमावस्या को सर्व पितृ अमावस्या कहा जाता है क्योंकि इस दिन आप श्राद्ध कर सकते हैं। आपको बता दें कि इस बार सर्व पितृ अमावस्या 6 अक्टूबर बुधवार को पड़ रही है। अगर आप भी अपनी भूल-चूक की भरपाई करना चाहते हैं तो इस विधि से अमावस्या के दिन करें पितरों का श्राद्ध करें।

विधि - कहा जाता है लोग ​अपने सभी पितरों का श्राद्ध एक साथ सर्व​ पितृ अमावस्या को कर सकते हैं। लेकिन शास्त्रों में सर्व पितृ अमावस्या को 16 ब्राह्मणों को भोजन कराना अत्यंत शुभ बताया गया है। कहा जाता है श्राद्ध करते समय घर की दक्षिण दिशा में सफ़ेद वस्त्र पर पितृ यंत्र स्थापित करना चाहिए। वहीं उनके निमित्त, तिल के तेल का दीपक जलाएं और सुगंधित धूप अर्पित करें। अब चंदन व तिल मिले जल से तर्पण दें। इसके बाद कुश के आसन पर बैठकर गीता के 16वें अध्याय का पाठ करें। अब ब्राह्मणों के लिए जो भोजन बनाया है, उसमें से 5 हिस्से निकालें, देवताओं, गाय, कुत्ते, कौए और चींटियों के लिए निकालें। इसके बाद ब्राह्मणों को खीर, पूड़ी, सब्ज़ी, मिष्ठान, लौंग-इलाएची व मिश्री आदि अन्य चीजें श्रद्धा पूर्वक​ खिलाएं। अब ब्राह्मणों को वस्त्र-दक्षिणा देकर विदा करें और पैर छूकर उनका आशीर्वाद लें।

दीप दान करें- ध्यान रहे ऐसी मान्यता है कि सर्व पितृ अमावस्या के दिन पितर अपने पितृ लोक लौट जाते हैं। इस वजह से अमावस्या के दिन दीप दान किया जाता है, ताकि उन्हें सही से रास्ता दिखाई दे।

IPL 2021: हैदराबाद 7 विकेट से जीता, 10 मुकाबलों में SRH को मिली दूसरी जीत

यहाँ पत्तागोभी और ब्रोक्ली तोड़ने के बदले मिल रहा 63 लाख का पैकेज

टाटा मोटर्स के अधिकारियों ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन से की मुलाकात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -