यहां पर स्वच्छता वारियर्स के धोए गए पैर

मध्य प्रदेश में कोरोना संकटकाल में इटारसी के स्वच्छता सैनिकों ने दिन-रात अपनी सेवाएं देते हुए नगर को साफ रखा. कोरोना योद्धा के रूप में कंटेनमेंट जोन से लेकर पूरे शहर को स्वच्छ बनाने में अपनी सेवा निरंतर देते आ रहे हैं. इस कार्य की सराहना और उत्साहवर्धन के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के स्वयंसेवकों ने शुक्रवार को शहर के स्वच्छता सैनिकों के पैर धोकर उनका सम्मान किया. सामाजिक समरसता का परिचय देते हुए ब्राह्मण, क्षत्रिय और वैश्य तीनों वर्ग के लोगों ने पैर धोए.

भारत में चीन से ज्यादा हो गए 'कोरोना' के केस, अब तक 2700 लोग गँवा चुके हैं जान

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि सर्वप्रथम राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग प्रचारक सुरेंद्र सिंह सोलंकी, विद्या भारती सरस्वती शिक्षा समिति के कल्पेश अग्रवाल और यंग थिंकर्स फोरम के डॉ. वैभव शर्मा ने सभी स्वच्छता दूतों के पैर धोए. इस दौरान स्वयंसेवकों ने उन पर पुष्प वर्षा की और उनके प्रति आदर का भाव प्रकट किया. साथ ही स्वच्छता सैनिकों को ड्यूटी पर जाने से पूर्व जलपान भी कराया गया.

मुंबई समेत इन शहरों में बढ़ा संक्रमितों का आंकड़ा

अपने बयान में विद्या भारती सरस्वती शिक्षा समिति के कोषाध्यक्ष विक्रम सोनी ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में हमारे स्वच्छता सैनिक अत्यंत जोखिम पूर्ण कार्य कर रहे हैं. कंटेनमेंट क्षेत्र की सफाई, सैनिटाइजर का छिड़काव आदि कार्य में उनका सराहनीय योगदान रहा है. शहर कोरोना रोग से जो धीरे-धीरे मुक्त हो रहा है. उसमें हमारे स्वच्छता सैनिकों की मुख्य भूमिका है. चुनौती अभी खत्म नहीं हुई है. हमें संभलकर चलना होगा.

कोरोना से जंग में मदद के लिए आगे आया जगन्नाथ मंदिर, CMRF में दिए 1.51 करोड़

'मंदिर' के सामने अनियंत्रित होकर पलटा 67 मजदूरों से भरा ट्रक, सभी सुरक्षित

कई तकलीफों का सामना करने के बाद प्रवासी मजदूर पहुंचे प्रयागराज जंक्शन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -