88 वर्षों बाद बदला गया संभाजी बीड़ी का नाम, आंदोलन के बाद लिया गया फैसला

By Bhavesh Bakshi
Jan 23 2021 03:10 PM
88 वर्षों बाद बदला गया संभाजी बीड़ी का नाम, आंदोलन के बाद लिया गया फैसला

मुंबई: शिवभक्तों और संगठनों की मांग के बाद आखिरकार 88 वर्ष के बाद संभाजी बीड़ी का नाम बदल दिया गया है. शिव प्रेमियों की मांग को कंपनी ने समर्थन दे दिया है. अब संभाजी बीड़ी का नाम साबले बिड़ी होगा. महाराष्ट्र के औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजी नगर करने पर बीते कुछ दिनों से कांग्रेस और शिवसेना में खींचतान हो रही है. 

इसी बीच, पुणे में तक़रीबन 88 वर्षों से संभाजी बीड़ी के नाम से बेचीं जाने वाली बीड़ी का नाम बदल दिया गया है. अब से, यह उत्पादन साबले बीड़ी के नाम से बाजार में बिकेगा. बता दें कि पुणे के साबले वाघिरे ग्रुप इस बीड़ी का उत्पादन कर रहा है. कंपनी ने 88 वर्ष पूर्व संभाजी महाराज के नाम पर संभाजी बीड़ी का नाम रखा था. सूबे के सभी शिवप्रेमियों के आंदोलन के बाद कंपनी ने बीड़ी का नाम बदलने का ऐलान किया था. 

खास तौर पर, शिवधर्म फाउंडेशन के कार्यकर्ताओं ने इस बीड़ी के नाम को बदलने की मांग के लिए पुरंदर किले के तल पर अनशन आंदोलन किया था. जानकारी के अनुसार, आंदोलनकारियों की मांग की थी कि संभाजी बीड़ी के नाम से धूम्रपान करने वाले उत्पादन होने से संभाजी महाराज का अनादर हो रहा है. इसलिए फ़ौरन बीड़ी का नाम बदला जाए. इस मांग को लेकर महाराष्ट्र में कई संगठनों ने आंदोलन भी किया था.

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बर्फ के कारण हुए जाम

टीम इंडिया के लिए आनंद महिंद्रा का बड़ा ऐलान, इन 6 खिलाड़ियों को तोहफे में देंगे गाड़ी

अब महज 859 रुपए में लीजिए हवाई सफर का आनंद, Indigo लेकर आई धमाकेदार ऑफर