रेवाड़ी गैंगरेप: आरोपी का सुराग देने वाले को मिलेगा ईनाम

Sep 15 2018 02:10 PM
रेवाड़ी गैंगरेप: आरोपी का सुराग देने वाले को मिलेगा ईनाम

रेवाड़ी में हुए गैंगरेप मामले की जांच की लिए अब स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (SIT) का गठन कर लिया गया है। एसआईटी की चीफ नाजनीन भसीन ने हाल ही में आयोजित की एक प्रेस कांफ्रेस में आरोपियों की सूचना देने वालों के लिए ईनाम की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि 'लड़कों का सुराग देने वालों को एक लाख रुपए का ईनाम दिया जाएगा।' वहां मौजूद पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए उन्होने बताया कि मेडिकल जांच में रेप की पुष्टि हो चुकी है। रेप के बाद से अब तक आरोपी लड़के फरार हैं। वह जल्द ही तीन ही आरोपियों की फोटो और स्केच जारी कर देंगे.

अब भोपाल के मूक बधिर बच्चे हुए यौन शोषण का शिकार, तीन की मौत!!

रेवाड़ी गैंगरेप मामला क्या है? - आपको बता दें कि 12 सितंबर को आरोपियों ने को कोचिंग जाने के दौरान एक छात्रा को किडनैप कर लिया था। फिर घर से दूर ले जाकर उसे नशीली चीज खिला दी और उसके साथ गैंगरेप किया। रेप करने के बाद आरोपियों ने छात्रा को ले जाकर वापस महेंद्रगढ़ के एक बस स्टॉप के पास फेंक दिया था और आपको यह भी पता हो कि पीड़िता 2016 में सीबीएससी बोर्ड की टॉपर रह चुकी है और टॉप करने के लिए राष्ट्रपति से सम्मानित भी हो चुकी है. इसी के साथ पुलिस पर भी यह आरोप है कि पहले उन्होंने इस मामले में केस दर्ज करने में बहुत नाटक किए थे लेकिन मामले के तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया था. जांच के लिए एसआईटी की टीम का गठन कर लिया गया है. अब तक तीन आरोपियों आरोपी पंकज, मनीष और नीशू की केवल पहचान हुई है एक भी आरोपी गिरफ्तार नहीं हुआ है लेकिन उम्मीद है कि जल्द ही लड़की को न्याय मिलेगा.

हॉस्टल में मूक बधिर छात्राओं के साथ हुआ रेप, छात्रों के साथ अप्राकृतिक कृत्य

केरल नन रेप केस: पीड़ित नन की तस्वीर जारी करने पर, मिशनरी के खिलाफ मामला दर्ज

केरल नन रेप केस: बिशप को बचाने आगे आया मिशनरी ऑफ़ जीसस, नन को बताया झूठा

?