अब दवाओं एवं ऑक्सीजन की उपलब्धता पर मुख्यमंत्री कार्यालय को रोज देनी होगी रिपोर्ट

अब दवाओं एवं ऑक्सीजन की उपलब्धता पर मुख्यमंत्री कार्यालय को रोज देनी होगी रिपोर्ट

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने ड्रग कंट्रोलर को आदेश दिए हैं कि वह कोरोना को ध्यान में रखते हुए हॉस्पिटलों एवं चिकित्सा इंस्टिट्यूट में जरुरी दवाइयों की उपलब्धता सुनिश्चित करें। इन टेबलेट के बैकअप के इंतजाम भी किये जाए। कहीं भी दवाओं की जमाखोरी न होने पाए। उन्होंने ड्रग कंट्रोलर को राज्य में दवाइयों एवं प्राणवायु की उपलब्धता एवं आपूर्ति पर रोजाना सीएम दफ्तर को रिपोर्ट देने के लिए कहा है।

सीएम लोक भवन में हाई लेवल बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा है कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग को प्रभावी तरीके से संचालित करने के लिए जरुरत के मुताबिक सर्विलांस टीम बढ़ाई जाएं। प्राणवायु प्लांट सभी मेडिकल कॉलेजों में तय दर पर ऑक्सीजन की सप्लाई करें। वही प्राणवायु की दर वही रहनी चाहिए, जो कोरोना से पहले थी। उन्होंने प्राणवायु की कालाबाजारी की कम्प्लेन प्राप्त होने पर कड़ी कार्रवाई करने के आदेश दिए। कहा कि यह निश्चित किया जाए कि हॉस्पिटलों, मेडिकल कॉलेजों और चिकित्सा संस्थानों में प्राणवायु की कमी न होने पाए।

वही लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, गोरखपुर, वाराणसी एवं मेरठ में सभी मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल पूरी गुणवत्ता एवं क्षमता से काम करें। ड्रग कंट्रोलर इन शहरों में दवाई और प्राणवायु के सुचारु इंतजाम बनाए रखें। बैठक में हेल्थ मिनिस्टर जयप्रताप सिंह, चीफ सेक्रेटरी आरके तिवारी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने आदेश दिए कि राजधानी में केजीएमयू, एसजीपीजीआई और लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान 1000 आईसीयू बेड का इंतजाम करें। इसी के साथ सभी व्यवस्था की जाएगी।

तेलंगाना के वित्त मंत्री टी हरीश राव ने एक सत्र में यह बात कही

ड्रग रैकेट पर सिद्दारमैया बोले- ड्रग केस में शामिल लोगों को मिलनी चाहिए सजा

कोरोना वैक्सीन पर बिल गेट्स का बड़ा बयान, कहा- टीके के लिए 'भारत' के तरफ देख रही दुनिया