दिल्ली में तय होगा ऑटो - टैक्सी का किराया

नई दिल्ली : दिल्ली के ट्रैफिक और प्रदूषण को नियंत्रित करने के बाद अब दिल्ली की आम आदमी पार्टी नीत राज्य सरकार दिल्ली में चलने वाले 80 हजार ऑटो रिक्शा और 12 हजार टैक्सियों के संचालन को प्रबंधित करने में लगी है। इसके लिए परिवहन मंत्री और अन्य आला नेता दिल्ली परिवहन विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे सकते हैं।

यही नहीं परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों का 4 सदस्यीय दल इस मामले में विश्लेषण कर मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट भी प्रस्तुत करेगा। जिसके बाद आवश्यक निर्णय लिए जाऐंगे। दरअसल जो टेक्सियां दिल्ली में चल रही हैं उनके किराये और रंग में भी बदलाव हो सकता है।

यदि किराये में बदलाव होता है तो यह यात्रियों के लिए सुविधाजनक हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि इसके पहले वर्ष 2013 में तत्कालीन शीला दीक्षित सरकार ने किराए में परिवर्तन कर दिया था।

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी द्वारा कहा गया कि परिवहन विभाग में गठित कमेटी अपनी सिफारिश देगी जिसके आधार पर किराये का निर्णय सीएम स्वयं करेंगे। ऑटोरिक्शा में भी प्रतिकिलोमीटर या प्रति दो किलोमीटर के आधार पर किराया तय किया जाएगा। हालांकि परिवहन मंत्री गोपाल राय स्वास्थ्य लाभ लेने के लिए चेन्नई गए हैं। उनके लौटने पर कुछ निर्णय आसानी से लिए जा सकेंगे।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -