एनडीए से गठबंधन को लेकर रामदास आठवले ने कही ऐसी बात

मुंबई : केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले का कहना है कि वह आने वाले लोकसभा चुनाव में राजग के साथ ही रहेंगे लेकिन उनकी कुछ मांगे हैं। आठवले ने कहा कि उनकी पार्टी को दो सीटें चाहिए। उन्होंने साफ किया है कि उन्हें एक सीट शिवसेना और एक सीट भाजपा से चाहिए। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया-ए के अध्यक्ष रामदास आठवले ने कहा उन्हें एक सीट मुंबई और एक सीट मुंबई से बाहर से चाहिए।

मिशन लोकसभा: न्यूनतम साझा कार्यक्रम के लिए 27 फरवरी को इकट्ठा होंगे विपक्षी दल

इस कारण खफा थे अठावले 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री रामदास आठवले, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानि एनडीए से पिछले दो दिनों से अपनी नाराजगी खुलेआम जाहिर कर रहे थे। महाराष्ट्र में उनकी पार्टी को तवज्जो नहीं मिलने के चलते वे राजग से खफा थे। रामदास आठवले की पार्टी आरपीआई महाराष्ट्र में सीमित है। पार्टी के पास खुद का चुनाव चिन्ह तक नहीं है। महाराष्ट्र में जहां अनुसूचित जाति की जनसंख्या 11 फीसदी है उसमें रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया-ए का मत प्रतिशत 1 फीसदी से भी कम है। 

आज राजस्थान के चूरू में विजय संकल्प सभा को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

महाराष्ट्र में बड़ा चेहरा है अठावले 

जानकारी के लिए बता दें लोकसभा चुनाव के लिए जब पिछले हफ्ते महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना का गठबंधन हुआ था तो उसमें न ही आठवले को बुलाया गया और न ही उन्हें कोई सीट दी गई थी। रामदास आठवले महाराष्ट्र में अनुसूचित जाति की राजनीति के बड़े चेहरों में से एक हैं। क्रांतिकारी कवि और सामाजिक कार्यकर्ता नामदेव ढसाल ने जब महाराष्ट्र में 1972 में दलित पैंथर्स की स्थापना की तो आठवले भी उनके साथ सक्रिय हुए।
 

वॉर मेमोरियल लाइव: पीएम मोदी बोले- माँ भारती के लिए बलिदान देने वाले हर वीर को नमन

हैदराबाद पुलिस अकादमी में नौकरियां ही नौकरियां, युवाओं के लिए खाली हैं ये पद

गोवा सीएम का स्वास्थ्य स्थिर, एम्स के डॉक्टरों ने दी जानकारी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -