राजस्थान: आयुर्वेदिक फर्म पर मारा गया छापा, दवाइयों में पाया गया ये ड्रग

Jun 13 2019 06:01 PM
राजस्थान: आयुर्वेदिक फर्म पर मारा गया छापा, दवाइयों में पाया गया ये ड्रग

जयपुर: चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के औषधि नियंत्रण संगठन ने बड़ा एक्शन लेते हुए जयपुर स्थित आयुर्वेदिक निर्माता फर्म आयुषराज एन्टरप्राइजेज प्रा.लि. पर रेड मारकर आयुर्वेदिक औषधियों में एलोपैथिक दवाईयां मिलाने का पर्दाफाश किया है. निर्माता फर्म के खिलाफ ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट तथा भारतीय दंड समिति की विभिन्न धाराओं के तहत बगरू थाने में केस दर्ज हुआ है.

औषधि नियंत्रक राजाराम शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया है कि आयुर्वेदिक निर्माता फर्म आयुषराज एन्टरप्राइजेज प्रा.लि. पर आयुर्वेदिक औषधियों में एलोपैथिक दवा मिलाने के संबंध में जानकारी मिलने पर दवाईयों के नमूने लेकर उनकी जांच करवाई गई और जानकारी की पुष्टि होने के बाद अजमेर रोड के पास ग्राम मानसिंहपुरा स्थित आयुर्वेदिक औषधि निर्माता कंपनी में टीम पहुंचकर एक्शन लिया गया है. फैक्ट्री में निर्मित संदेहास्पद आयुर्वेदिक दवाइयों की जांच राजकीय औषधी जांच प्रयोगशालाओं में करवाई गई, जिसमे डायबिटीज की दवा मेटफोर्मिन हाइड्रोक्लोराइड पाई गई. 

जांच दल में औषधि नियंत्रण अधिकारियों के साथ आयुर्वेदिक विभाग के औषधि निरीक्षक को भी शामिल किया गया था. शर्मा ने कहा कि डायबिटीज के इलाज में काम आने वाली दो औषधियों धन्वतरी डीबी केयर और प्रानिक डीबी केयर में एलोपैथिक दवा पाई गई. इन औषधियों पर प्रकाशित लेबल के मुताबिक, इन आयुर्वेदिक उत्पादों को निर्यात किया जाता है और औषधि के 500 एमजी के कैप्सूल में 168 एमजी से 201 एमजी तक की औषधि में मेटफोर्मिन पाया गया.

 13 जून को वित्तीय संस्थानों के अधिकारियों समेत बैंकरों के साथ बैठक करेंगी वित्तमंत्री

भारत के पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में जारी नई परियोजनाओं पर 13,000 करोड़ का निवेश करेगा जापान

चौथे दिन बाजार खुलते ही रुपये में नजर आई मजबूती