'मेरा इस्तेमाल किया गया..', 6वीं पास शहीद से लव मैरिज करने वाली बैंक मैनेजर ने की ख़ुदकुशी

जयपुर: राजस्थान के जयपुर में 6वीं पास मुस्लिम युवक शाहिद से प्रेम विवाह करने वाली MBA होल्डर महिला ने फाँसी लगा कर ख़ुदकुशी कर ली है। मृतिका सुरभि कुमावत पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में मार्केटिंग मैनेजर थीं। सुसाइड नोट में उन्होंने आत्महत्या की वजह बताते हुए लिखा है कि उनका पति और उनकी बेटी उनसे नफरत करते थे। सुरभि के अनुसार, उनका इस्तेमाल किया गया। फ़िलहाल, पुलिस ने शव को कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में रखवा दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, घटना जयपुर के मुहाना मंडी में 1 अक्टूबर 2022 (शनिवार) की है। यहाँ 30 साल की सुरभि कुमावत अपने 38 वर्षीय पति शाहिद और 5 वर्षीय बेटी मसयारा संग इस्कॉन रोड के नारायण सरोवर में रहती थीं। घटना वाली रात सुरभि के पति और बेटी सोसाइटी के ही एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे। दोनों के 11 बजे लौट कर आने के बाद सुरभि दूसरे रूम में सोने के लिए चली गईं। अगले दिन रविवार को जब सुबह शाहिद सो कर उठे, तो उन्होंने सुरभि को आवाज़ दी, लेकिन कोई जवाब नहीं आया। उसने जा कर देखा तो सुरभि की लाश पंखे से फंदे पर लटकी हुई थी। शाहिद ने फ़ौरन पुलिस को सूचित किया और पुलिस ने पहुंचकर जरूरी कार्रवाई की। इस दौरान मृतिका के शव के पास एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ। उस नोट में लिखा था कि, 'मेरे पति और मेरी बेटी मुझ से नफरत करते हैं। मैं इस दुनिया से परेशान हूँ और जा रही हूँ।'

 

सुसाइड नोट में आगे लिखा था कि, 'मुझे कोई नहीं समझता। हर कोई दुःख देना चाहता है। मैं बस खुश रहना चाहती हूँ। मैं किसी की जिंदगी में परेशानी भी नहीं बनना चाहती। मेरा खुद का पति मुझे छोड़ने की धमकी देता है। स्वार्थ के लिए मेरा इस्तेमाल किया गया।। मुझे दुख है कि बेटी कि मैं तुझे नहीं देख पाऊँगी।' बताया जा रहा है कि सुरभि के कमरे का सामान बिखरा हुआ था। उनके पति शाहिद ने बताया कि जब वो रूम में पहुंचे, तो सुरभि का शव घुटने पर बैठी स्थिति में मिला। शाहिद के अनुसार, उन्होंने ही फंदा काट कर सुरभि को बिस्तर पर लिटाया।  

सुरभि की मौत के बाद मौके पर ही उनके ससुराल और मायके पक्ष के लोगों के बीच तीखी बहस होने लगी। पुलिस ने स्थिति को संभाला और पोस्टमार्टम के बाद शव को मायके पक्ष वालों के हवाले कर दिया। प्रशासन द्वारा पूरी घटना की वीडियो रिकार्डिंग करवाई गई और मौका-ए-वारदात का FSL परीक्षण भी करवाया गया। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर के जाँच शुरू कर दी है। 

क्या है पूरा मामला:-

मूल रूप से राजस्थान के टोंक जिले की निवासी सुरभि का परिवार बीते 25 वर्षों से जयपुर में रह रहा था। करीब 8 साल पहले इंग्लिश स्पीकिंग की क्लास में शाहिद की एक अन्य हिन्दू प्रेमिका ने सुरभि और शाहिद कि मुलाकात करवाई थी। शाहिद बासबदनपुरा का निवासी था, जो पानी की सप्लाई का काम करता था। सुरभि MBA पास कर चुकी थीं, जबकि शाहिद 6ठी तक ही पढ़ा था। बाद में सुरभि और शाहिद में नजदीकियाँ बढ़ने लगीं। वर्ष 2015 में सुरभि की पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में नौकरी लग गई। नौकरी पाने के बाद 2016 में दोनों ने गाजियाबाद जा कर वहाँ के आर्य समाज संस्थान में विवाह कर लिया।

लगभग 5 वर्ष पूर्व सुरभि ने एक बेटी को जन्म दिया, जिसका नाम उन्होंने मसायरा रखा। सुरभि नौकरी कर के घर चलाती थी, जबकि शाहिद बच्ची को सँभालने के नाम पर घर में ही रहता था। जून 2021 में सुरभि ने जयपुर के इस्कॉन रोड मुहाना स्थित अपार्टमेंट में एक फ्लैट खरीदा और अपने पति शाहिद और बेटी संग रहने लगीं। अब अचानक सुरभि द्वारा ख़ुदकुशी किए जाने से उनके आस-पड़ोस में रहने वाले लोग भी हैरान हैं। 

लूडो खेलने से किया मना, नहीं माना तो घोंप दिया चाकू

प्रॉपर्टी हड़पने के लिए 'हिन्दू' बन गई मुस्लिम महिला, मंदिर में शादी भी की, ऐसे खुला राज़

नशा मुक्ति अभियान के तहत पुलिस ने की कार्रवाई, 5000 लीटर लहान किया नष्ट

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

Most Popular

- Sponsored Advert -