राफेल मुद्दे पर रक्षा मंत्री का पलटवार, कहा HAL को डील से निकालने के लिए कांग्रेस ही जिम्मेदार

Sep 18 2018 04:58 PM
राफेल मुद्दे पर रक्षा मंत्री का पलटवार, कहा HAL को डील से निकालने के लिए कांग्रेस ही जिम्मेदार

नई दिल्ली: भारत की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण आज दिल्ली में भारतीय महिला प्रेस कॉर्पोरेशन में मीडिया को सम्बोधित कर रही हैं. इस दौरान उन्होंने कई खास मुद्दों पर मीडिया को जवाब दिया. पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पाकिस्तान यात्रा के सवाल पर रक्षा मंत्री ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि नवजोत सिद्धू के बहुत सारे प्रशंसकों हैं, उनके अपने फॉलोवर्स हैं.

रिलायन्स ने ओएनजीसी की गैस चुराई, सरकार जाएगी कोर्ट


उन्होंने कहा कि सिद्धू जैसा कोई भी शख्स जो भारत में इतने फॉलोवर्स रखता हो, वो अगर जाकर दुश्मन के गले लगेगा तो निश्चित रूप से इसका सेना पर असर पड़ेगा, यहाँ तक कि इससे देश की जनता का सम्बल भी टूटता है. राफेल डील को लेकर रक्षा मंत्री ने कहा, 'डील UPA के दौरान नहीं हुई, इसके अलावा यूपीए के दौरान HAL और डसॉल्ट के बीच प्रॉडक्शन टर्म्स को लेकर सहमति भी नहीं बन सकी थी. ऐसे में HAL और राफेल एक साथ काम नहीं कर सकते थे. 'उन्होंने सवाल पूछते हुए कहा कि कौन HAL के साथ नहीं गया, किस सरकार के समय ऐसा हुआ? सीतारमण ने कहा कि HAL पर कांग्रेस को जवाब देना चाहिए. 

शादी के गिफ्ट में दूल्हे को मिला 5 लीटर पेट्रोल

ए के अन्थोनी ने लगाया आरोप
पूर्व रक्षामंत्री एके एंटनी ने भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि यह सरकार कह रही है कि उसका सौदा सस्ता है. अगर ऐसा है तो उन्होंने सिर्फ 36 विमान क्यों खरीदे हैं, जबकि वायुसेना की तत्काल जरूरत 126 विमानों की है.’ उन्होंने कहा कि हाल ही में कानून मंत्री ने दावा किया था कि यूपीए के डील से यह डील 9 प्रतिशत सस्ता है. वित्त मंत्री ने कहा था कि यह 20 प्रतिशत सस्ता है और भारतीय वायुसेना के अधिकारी ने कहा था कि यह 40 प्रतिशत सस्ता है. एंटनी ने पुछा कि ये सभी लोग विमान की कीमतों के बारे में अलग-अलग क्यों बता रहे हैं. इससे पहले कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि बीजेपी ने HAL को दरकिनार कर अम्बानी की रिलायंस डिफेन्स कंपनी को डील में साझेदार बनाया है. 

खबरें और भी:-

पीएम मोदी आज वाराणसी को रिटर्न गिफ्ट में देंगे 557 करोड़ रुपए

पीएम मोदी से मिलने के लिए महिला ने 13 हजार फीट से लगाई छलांग

रूपए में गिरावट का बड़ा असर : सेंसेक्स 350 अंक गिरा, निफ्टी 11400 के करीब पहुंचा