तेजस्वी की जिद राबड़ी को पड़ी भारी, अब आई बंगला खाली करने की बारी

पटना : पूर्व मुख्यमंत्रियों के सरकारी बंगला खाली करने को लेकर पटना उच्च न्यायलय के फैसले के बाद अब बिहार के कई पूर्व सीएम को अपना बंगला खली करना पड़ेगा. ऐसे ही पूर्व सीएम में शामिल राबड़ी देवी के सामने भी बंगला खाली करने का संकट खड़ा हो गया है. हालांकि पूरे मामले पर बिहार सरकार के भवन निर्माण मंत्री ने पूर्व सीएम लालू यादव के पूरे परिवार पर तंज कसा है. महेश्वर हजारी ने यह कहकर राजनितिक पारा चढ़ा दिया है कि एक बंगले के चक्कर में लालू परिवार को दूसरा बंगला भी खली करना पड़ रहा है.

पाक रेल मंत्री की गीदड़भभकी - अगर हमला हुआ तो भारत में कोई घंटी बजाने वाला नहीं बचेगा

उन्होंने कहा है कि तेजस्वी यादव के बाद उनकी माँ राबड़ी देवी को भी अपना सरकारी बंगला खली करना पड़ेगा. राबड़ी देवी पूर्व सीएम होने के नाते पटना का 10, सर्कुलर रोड के बंगले में 2005 से निवास कर रही हैं. लेकिन पटना उच्च न्यायालय ने पूर्व सीएम को आजीवन सरकारी बंगला दिए जाने के फैसले को गलत करार दिया है. ऐसे में बिहार के कई पूर्व सीएम को सरकारी बंगला खाली करना होगा. ऐसे ही पूर्व सीएम कि लिस्ट में जीतन राम मांझी, जगन्नाथ मिश्र, सतीश कुमार और राबड़ी देवी का नाम है. अदालत के इस फैसले का सबसे ज्यादा प्रभाव राबड़ी देवी पर पड़ेगा.

सिर्फ संत रविदास का स्मरण ही नहीं, बल्कि उनके विचारों पर अमल भी करे भाजपा - मायावती

इसका कारण ये है कि राबड़ी देवी जिस बंगले में रह रही हैं वो अन्य पूर्व सीएम के बंगले की तुलना में बहुत बड़ा है. राबड़ी देवी यहां लंबे समय से अपने परिवार के साथ निवास कर रही हैं. तेजस्वी और तेजप्रताप इसी बंगले में पले बढ़ें हैं. वैसे भी हाल ही तेजस्वी यादव को को अपना  5, देशरत्न मार्ग का सरकारी आवास शीर्ष अदालत की फटकार के बाद खाली करना पड़ा है. अब 10, सर्कुलर रोड का बंगला खाली करना लालू परिवार पर दोहरी मार है.

खबरें और भी:- 

पुलवामा हमला: इमरान ने मांगे सबूत, अमरिंदर बोले- क्या जैश के आतंकियों की लाशें भेजें ?

मिशन लोकसभा: कांग्रेस ने अपनाया भाजपा का हथकंडा, जनता की राय से बनाएगी घोषणा पत्र

भाजपा-शिवसेना के गठबंधन पर राणे का प्रहार, कहा दोनों को झेलना पड़ेगा नुकसान

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -