पंजाब में बढ़ी कोरोना के मरीजों की संख्या

पंजाब में बढ़ी कोरोना के मरीजों की संख्या

चंडीगढ़: एक तरफ बढ़ रहा कोरोना का कहर अब इतना बढ़ चुका है. कि हर तरफ केवल तवाही का मंज़र देखने को मिल रहा है. जंहा अब तक इस वायरस से मरने वालों कि संख्या 18000 से अधिक हो चुकी है. पंजाब में बुधवार को कोरोना का एक और केस सामने आ गया और इसके साथ ही प्रदेश में पॉजिटिव केसों की संख्या 31 हो गई. होशियारपुर में कोरोना पॉजिटिव पाए गए पाठी के बेटे की रिपोर्ट भी बुधवार को पॉजिटिव आ गई. सिविल सर्जन होशियारपुर डॉक्टर जसवीर सिंह ने इसकी पुष्टि की है.

मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश में कोरोना का सबसे बुरा प्रभाव नवांशहर पर पड़ा है. फिर अमृतसर, मोहाली, होशियारपुर के बाद कोरोना से पीड़ितों की गिनती में जालंधर और लुधियाना भी जुड़ गया. लुधियाना में एक मामला आया है. वहीं मोहाली में 5, जालंधर में 3, अमृतसर में 2 और होशियारपुर जिले में एक केस सामने आ चुका है. जंहा यह भी कहा जा रहा है कि राज्य सरकार की ओर से जारी सूचना के अनुसार, मंगलवार को राज्य में कोरोना से पीड़ित सात और लोगों को आइसोलेशन वार्ड में दाखिल किया गया. फिलहाल उनकी हालत स्थिर है, लेकिन उनमें से तीन जालंधर जिले के फिल्लौर कस्बे के हैं. तीन अन्य मामले नवांशहर के बलदेव सिंह से जुड़े हैं, जिसकी बीते दिनों कोरोना वायरस के कारण मौत हो गई थी. इसके साथ ही मृतक से संबंधित उसके रिश्तेदार और करीबी 17 लोगों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ चुकी है.

वहीँ इस बात का पता चला है कि बीते मंगलवार तक स्वास्थ्य विभाग ने 282 संदिग्ध मामलों में सैंपल लेकर जांच की. इनमें से 220 लोगों के सैंपल निगेटिव पाए गए हैं, जबकि 32 लोगों की जांच रिपोर्ट का इंतजार है. इन 32 लोगों और उनके करीबियों को गहन निगरानी में रखा गया है. फतेहगढ़ साहिब के एक संदिग्ध मरीज को पीजीआई चंडीगढ़ भेजा गया था, जहां मरीज की किसी अन्य बीमारी के कारण मृत्यु हो गई. पीजीआई की जांच रिपोर्ट के अनुसार, मरीज में कोविड-19 के लक्षण नहीं पाए गए.

भोपाल के बाद अब इंदौर में भी लागू हुआ कर्फ्यू, मध्य प्रदेश में कोरोना के 6 मामले दर्ज

कोरोना संकट के बीच जेल से रिहा होंगी बांग्लादेश की पूर्व पीएम खालिदा जिया

कोरोना के खौफ से शिमला में भी लगा जनता कर्फ्यू