तख्तापलट के मनीष तिवारी के बयान से मचा राजनीतिक बवाल

नई दिल्ली : कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ प्रवक्ता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी के बयान को ही गलत बता दिया है। दरअसल पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने बयान दिया था कि वर्ष 2012 में सेना की टुकड़ी के दिल्ली कूच का मामला सत्ता के तख्तापलट से जुड़ा था। इस बारे में जो ख़बरें सामने आई थीं वे सही थीं। पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष के इस तरह के बयान के बाद राजनीतिक बवाल मच गया है।

कांग्रेस ने उनके इस बयान को गलत बताया तो मनीष तिवारी से पूछा गया है कि आखिर उन्होंने इस तरह का बयान क्यों दिया। मनीष तिवारी ने यह भी कहा था कि संसद की रक्षा समिति में तख्तापलट और सेना के कूच को लेकर चर्चा हुई थी। हालांकि बाद में इसे संसद की कार्रवाई से हटा दिया गया था। इस मामले में भारतीय जनता पार्टी नेतृत्व ने पूर्व मंत्री से सवाल किए हैं कि आखिर उन्होंने ऐसा क्यों कहा गया। 

दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी ने इस तरह के बयान पर सवाल उठाए हैं। विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह ने कांग्रेस नेता के इस दावे को अस्वीकार कर दिया है। उन्होंनें कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी के पास फिलहाल कोई काम नहीं है। उन्हें इस बारे में जानकारी चाहिए तो वे मेरी पुस्तक पढ़ सकते हैं।

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि कांग्रेस में इन सभी बातों को कोई भी गंभीरता से नहीं लेता है। कांग्रेस पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी के बयान पर ही असमंजस की स्थिति में है। कांग्रेस के प्रवक्ता और वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि इस तरह का बयान गलत हो सकता है। उन्होंने बयान को नकार दिया है। दूसरी ओर जेडीयू नेता केसी त्यागी ने बयान का संज्ञान लेने की मांग की है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -