Tokyo Paralympics: अवनि लखेरा ने गोल्ड के बाद जीता ब्रोंज मेडल, बनी 'दो पदक' जीतने वाली पहली खिलाड़ी

नई दिल्ली: Tokyo Paralympic में भारत की अवनि लखेरा ने एक और कमाल किया है. जारी पैरालंपिक में पहले ही स्वर्ण पदक जीत चुकी जयपुर की इस पैरा शूटर ने एक और पदक पर कब्जा कर लिया है. इसके साथ ही अवनि एक ही पैरालंपिक में दो मेडल जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई हैं .अब उन्होंने महिलाओं की 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन SH1 प्रतियोगिता में शुक्रवार को ब्रोंज मेडल जीता. वह इस स्पर्धा के फाइनल में 445.9 का स्कोर कर तीसरे नंबर पर रहीं. इन खेलों में देश के पदकों की तादाद 12 तक पहुंच गई है.

इस स्पर्धा में चीन की झांग क्यूपिंग (457.9) और जर्मनी की हिलट्रॉप नताशा (457.1) क्रमशः स्वर्ण और रजत जीतने में सफल रहीं. क्वालिफिकेशन में अवनि लखेरा 1176 अंकों के साथ दूसरे नंबर पर रही थीं.  इससे पहले 19 वर्षीय अवनि ने महिलाओं के आर-2 10 मीटर एयर राइफल के क्लास SH1 में गोल्ड मेडल हासिल किया था, जो पैरालंपिक्स के इतिहास में भारत का शूटिंग में पहला स्वर्ण पदक था. वर्तमान पैरालंपिक में भारत के खाते में 12 पदक आ चुके हैं. भारत के खाते में अब 2 गोल्ड, 6 सिल्वर और 4 ब्रोंज मेडल हैं. यह पैरालंपिक के इतिहास में भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. इससे पहले रियो पैरालंपिक (2016) में भारत ने 2 गोल्ड समेत 4 पदक जीते थे. 

 

पीएम नरेंद्र मोदी ने अवनि को इस जीत पर बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि, 'टोक्यो पैरालंपिक में और अधिक गौरव! अवनि लखेरा के बेहतरीन प्रदर्शन से उत्साहित हूं. उन्हें ब्रोंज मेडल के लिए बधाई. उनके भविष्य के प्रयासों के लिए उन्हें बहुत-बहुत शुभकामनाएं.' 

मोहम्मद शमी बर्थडे: अपने डेब्यू टेस्ट में ही झटके 9 विकेट, बल्लेबाज़ी से भी बना चुके हैं रिकॉर्ड

रवि शास्त्री संग रिश्ते पर कोहली ने तोड़ी चुप्पी, बताया कैसी है कोच के साथ केमिस्ट्री

Tokyo Paralympic में भारत की उम्मीदों को बड़ा झटका, चोट के कारण इस स्टार खिलाड़ी ने वापस लिया नाम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -