इस कारण कच्चे तेल के दामों में दो दिनों से देखी जा रही है नरमी

इस कारण कच्चे तेल के दामों में दो दिनों से देखी जा रही है नरमी

नई दिल्ली : अमेरिका में कच्चे तेल का भंडार बढ़ने से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में फिर लगातार दो दिनों से नरमी देखी जा रही है। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेल के दाम में आई गिरावट से भारतीय वायदा बाजार में भी गुरुवार को कच्चे तेल के सौदे में नरम कारोबार दर्ज किया गया। भारतीय वायदा बाजार मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर कच्चे तेल के अप्रैल का एक्सपायरी अनुबंध में अपरान्ह 14.30 बजे पिछले सत्र के मुकाबले 15 रुपये यानी 0.36 फीसदी की नरमी के साथ 4,104 रुपये प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था। 

बाजार में तेजी के साथ ही रुपये में भी नजर आयी शानदार मजबूती

ऐसा रहा पूरा हाल 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इससे पहले अप्रैल एक्सपायरी कच्चा तेल अनुबंध एमसीएक्स पर 4,112 रुपये पर खुला और कारोबार के दौरान 4,081 रुपये प्रति बैरल तक फिसला। अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज (आईसीई) पर जून डिलीवरी ब्रेंट क्रूड का अनुबंध पिछले सत्र के मुकाबले 0.45 फीसदी की गिरावट के साथ 66.94 डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ था, जबकि इससे पहले सौदे में 67.31 डॉलर और 66.69 डॉलर प्रति बैरल के बीच कारोबार हुआ। ब्रेंट क्रूड के भाव में पिछले दो सत्रों से गिरावट देखी जा रही है।

सप्ताह के अंतिम दिन, सेंसेक्स और निफ्टी ने किया तेजी का रुख

आज ऐसे है कच्चे तेल के दाम 

जानकारी के मुताबिक वेबसाइट के अनुसार, गुरुवार को दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम घटकर क्रमश: 72.81 रुपये, 74.89 रुपये, 78.43 रुपये और 75.62 रुपये प्रति लीटर हो गए। डीजल के दाम भी चारों महानगरों में घटकर क्रमश: 66.39 रुपये, 68.18 रुपये, 69.54 रुपये और 70.156 रुपये प्रति लीटर दर्ज किए गए।

ओला ने UK के लिवरपूल मे शूरू की टैक्सी सर्विस, ड्राइवरों का हुआ फायदा

एशियाई बाजारों में नजर आई कमजोरी, आज ऐसा है हाल

डॉलर के मुकाबले 6 पैसे की कमजोरी के साथ खुला रुपया