ब्रिटेन की महारानी भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव को फांसी देने के मामले में मांगे माफ़ी

लाहौर. पाकिस्तान में सिविल सोसाइटी के मेम्बर्स और एकेडमिक्स ने भगत सिंह, राजगुरु-सुखदेव को फांसी पर ब्रिटेन की महारानी से सार्वजनिक रूप से माफ़ी मांगने को कहा है. इन स्वतंत्रता सेनानियो की 86 वी डेथ एनिवर्सरी के अवसर पर यह मांग की गई.

एक न्यूज एजेंसी के अनुसार, स्वतंत्रता सेनानियो की 86 वी डेथ एनिवर्सरी के अवसर पर गुरुवार को शहर लाहौर के फव्वारा चौक पर भगत सिंह मेमोरियल फाउंडेशन की तरफ से एक कार्यक्रम का आयोजन हुआ था जिसमे इस सम्बन्ध में ब्रिटेन की महारानी से ये मांग की गई. भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को 23 मार्च 1931 को फांसी दी गई थी, कार्यक्रम के लिए कड़ी सुरक्षा का इंतेजाम किया था, इसके बाद भी बहुत संख्या में लोग इस कार्यक्रम का हिस्सा बने. यह कार्यक्रम शादमान चौक पर हुआ था, यह वही जगह है जहां ब्रिटिश सरकार ने भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को फांसी दी थी.

सिविल सोसायटी के सदस्यो ने इस अवसर पर स्वतंत्रता सेनानियो के त्याग और बलिदान को याद करते हुए एक कैंडल लाइट जुलुस भी निकाला गया. शादमान चौक पर हुए कार्यक्रम में कनाडा और भारत में रह रहे भगत सिंह के परिवार के लोगों ने टेलिफोनिक स्पीच भी दी, जिसमे सरदार हुकूमत सिंह, गुरजीत धात, अभय सिंह सिंधु, किरण जीत सिंह और सरदार सुखवेंद्र सिंह सांगा शामिल थे.

ये भी पढ़े 

तो क्या नास्तिक थे देश के लिए जान देने वाले भगत सिंह!

23 मार्च शहीद दिवस - भगत सिंह,सुखदेव,राजगुरु ने किए थे देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर

शहीद दिवस : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया शहीदों को याद

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -