आसान नहीं ललित मोदी का प्रत्यर्पण, जारी ही नहीं हुआ रेड कॉर्नर नोटिस

नई दिल्ली : आर्थिक गड़बड़ी के आरोप में फंसने के बाद 2010 में यूपीए सरकार के दौरान भारत से ब्रिटेन भागे पूर्व आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी का भारत में प्रत्यर्पण आसान नहीं हैं, क्योंकि भगोड़े ललित मोदी ने खुद ट्वीट करके यह जानकारी दी हैं कि उनके खिलाफ इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी नहीं किया है.ललित मोदी का दावा हैं कि उनके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की भारत सरकार की अपील को इंटरपोल ने खारिज कर दिया है.

उल्लेखनीय हैं कि पूर्व आईपीएल कमिश्नर के अनुसार इंटरपोल ने कहा कि उसकी सूची में ललित मोदी का नाम नहीं है. भारत सरकार की ओर से उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के आधार पर ललित मोदी के खिलाफ यह नोटिस जारी नहीं किया जा सकता है. मोदी ने इंटरपोल के 24 मार्च 2017 के नोटिस की प्रति भी पोस्ट की हैं.

बता दें कि आर्थिक गड़बड़ी के आरोप में फंसने के बाद ललित मोदी 2010 में यूपीए सरकार के दौरान भारत से भाग गए थे. उनको ब्रिटेन से भारत प्रत्यर्पित करने की प्रक्रिया अभी तक लंबित है. भारत सरकार की ओर से ललित मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कराने और प्रत्यर्पण की कोशिश की जा रही है. अगर इस मामले में इंटरपोल ने ललित मोदी के खिलाफ नोटिस जारी करने की अपील को खारिज कर दिया है, तो यह भारत सरकार के लिए बहुत बड़ा झटका होगा. अब ललित मोदी के इस ट्वीट से फिर से देश में राजनीतिक घमासान छिड़ सकता है और विपक्ष हमलावर हो सकता हैं.  

यह भी पढ़ें

लंदन में ब्रिटिश संसद के बाहर फायरिंग, 2 की मौत, कई घायल

ब्रिटेन के बारे में शशि थरूर के कड़वे बोल, सोशल मीडिया को लगे मीठे

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -