महिलाओं की सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं: उद्धव ठाकरे

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बीते सोमवार को एक बयान में जोर देते हुए कहा कि, 'महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के उपायों में किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जायेगा ।' जी दरअसल बीते दिनों महाराष्ट्र के साकीनाका उपनगर में हुए एक दुष्कर्म मामले को लेकर लगातार चर्चाएं हो रहीं हैं। ऐसे में बीते सोमवार को उद्धव ठाकरे ने साकीनाका उपनगर में एक महिला के साथ बलात्कार और उसकी हत्या की पृष्ठभूमि में कहा, 'दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों का रिकॉर्ड होना चाहिए।'

आप सभी जानते ही होंगे कि इस वारदात को अंजाम देने वाला व्यक्ति उत्तर प्रदेश के जौनपुर का निवासी बताया गया है। वहीँ आगे उन्होंने यह भी कहा कि, 'जब कोई अपराध होता है, तो जन जागरूकता फैलाने व शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करने करने पर बहस होती है।' इसी के साथ उन्होंने यह भी पूछा कि, 'क्या ऐसे कार्यक्रम केवल महाराष्ट्र के लोगों के लिए हैं या बाहर से राज्य में आने वालों के लिए भी होने चाहिए।'

आप सभी जानते ही होंगे कि इस वारदात को अंजाम देने वाला व्यक्ति उत्तर प्रदेश के जौनपुर का निवासी बताया गया है। वहीँ इस दौरान मुख्यमंत्री ने निराश्रित महिलाओं को सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए नीति बनाने के वास्ते राज्य सरकारों और केंद्र के बीच संयुक्त प्रयासों की आवश्यकता पर जोर दिया। आपको बता दें कि यह सब बातें मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने साकीनाका बलात्कार-हत्या की घटना और राज्य के विभिन्न हिस्सों से सामने आए ऐसे मामलों की पृष्ठभूमि में शीर्ष पुलिस अधिकारियों और नौकरशाहों के साथ बैठक में कही।

नेशनल लेवल के शूटर नमानवीर सिंह बरार की संदिग्ध मौत, शरीर पर गोली के निशान मौजूद

खाना बनाते हुए अचानक फट गया सिलेंडर, 3 मासूम बच्चों समेत 4 की मौत

भारतीय क्रिकेट टीम का वो खिलाड़ी जिसका मुंबई की सड़कों पर खेलकर बना करियर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -