सिद्धू मूसे वाला मर्डर केस में आया नया मोड़, एक और कातिल हुआ गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस को सिद्धू मूसेवाला की हत्या में एक और बड़ी कामयाबी हासिल हो चुकी है। पुलिस ने शूटआउट में शामिल अंकित और उसके साथी सचिन भिवानी को हिरासत में लिया है। ये दोनों लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बरार के गैंग में काम कर रहे थे। पुलिस ने इनके पास से पंजाब पुलिस की तीन वर्दी के साथ एक 9mm की पिस्टल, एक  3mm की पिस्टल और डोंगल के साथ दो मोबाइल सेट जब्त किया है। 

पुलिस का कहना है कि, अंकित सिरसा ने नजदीक से सिद्धू मूसेवाला पर गोली चला दी थी। प्रियव्रत फौजी के साथ अंकित उसकी गाड़ी में ही मौजूद था। शुरू में अंकित और फौजी दोनों एक साथ भाग रहे थे। प्रियव्रत को पुलिस ने पहले ही हिरासत में ले लिया है। जबकि अन्य आरोपी सचिन भिवानी सिद्धू मूसेवाला केस के चार शूटरों को पनाह देने के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है। पुलिस ने कहा है कि सचिन भिवानी राजस्थान में लॉरेंस बिश्नोई गैंग का पूरा काम को संभालता है।

पुलिस इन दोनों को तीन जुलाई की रात 11 बजकर 5 मिनट पर कश्मीरी गेट के पास महात्मा गांधी मार्ग से हिरासत में ले लिया था। इनके पास सेडो पिस्टल के अलावा पंजाब पुलिस की तीन वर्दी भी जब्त की जा चुकी है। वहीं, पुलिस इस मर्डर केस में शामिल दर्जनों आरोपियों को अब तक हिरासत में ले चुकी है। वहीं, गोली मारने वाले शूटर्स की धड़पकड़ अब भी चल रही है। 

खबरों का कहना है कि शूटर्स लॉरेंस बिश्नोई के करीबी हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए दिल्ली, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में पुलिस की ताबड़तोड़ रेड चलती रही। इससे कुछ दिन पहले ही मूसेवाला मर्डर केस को लेकर हरियाणा के फतेहाबाद में पंजाब पुलिस ने दबिश दी, जहां एक और संदिग्ध  देवेंद्र उर्फ काला को पकड़ लिया गया। इस पर हत्याकांड के दो संदिग्धों को शरण देने का इल्जाम भी लगाया है। मददगारों से ही पूछताछ के आधार पर पुलिस गोली मारने वाले शूटर्स का सुराग तलाशने में लगी हुई है। 

गौरतलब है कि बीती 29 मई को पंजाब के मानसा जिले स्थित जवाहरके गांव के नजदीक सिद्धू मूसेवाला की गोलियों से भूनकर क़त्ल कर दिया गया था। कनाडा में बैठे गैंगस्टर गोल्डी बरार ने इस हत्याकांड की जिम्मेदारी ले ली थी। गोल्डी बरार तिहाड़ जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई का बेहद करीबी है। इन्होंने अपने दोस्त विक्की मिद्दूखेड़ा की मौत का बदला लेने इस हत्याकांड को आजमा चुके है। बता दें कि बीते दिनों मिद्दूखेड़ा की गोली मारकर कत्ल कर दिया गया था। लॉरेंस गैंग का मानना था कि विक्की मिद्दूखेड़ा के हत्यारों को सिद्धू मूसेवाला पनाह देने का काम कर रहा था। 

PM मोदी का पत्र पाकर अभिभूत हुईं मिताली राज, बोलीं- आप लाखों लोगों के रोल मॉडल

कोहली को सहवाग ने क्यों कहा 'छमिया' ? तेजी से वायरल हो रहा Video

Ind Vs Eng: बाल-बाल बचे ऋषभ पंत, तीसरे दिन की अंतिम गेंद पर ख़त्म हो जाती पारी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -