6 दिन तक नौशाद को ढूंढता रहा परिवार, सफदरगंज के मोर्चरी में मिली लाश

नई दिल्ली: दिल्ली और हरियाणा पुलिस में कॉर्डिनेशन की कमी के कारण एक व्यक्ति की लाश 6 दिनों से सफरदगंज के मोर्चरी में पड़ी सड़ती रही। 45 वर्ष का नौशाद अचानक लापता हो गया। नौशाद को उसका परिवार पिछले एक सप्ताह से ढूंढ रहा था, किन्तु उसकी लाश सफरदगंज के मोर्चरी में पड़ी हुई थी। परिवार वालों की इसकी सूचना अखबार के विज्ञापन से मिली, जिसे वसंतकुंज थाने की पुलिस द्वारा छपवाया गया था।

परिवार वालों के मुताबिक, हापुड़ का निवासी नौशाद फैब्रिकेटर का काम करता है। उसकी एक साइट गुरुग्राम में चल रही है। 14 तारीख को वह गुड़गांव आया हुआ था। अपने स्टाफ को भुगतान करने के बाद वह बाइक से छतरपुर की ओर आया और फिर वहां से वह लापता हो गया। उसके बाद फिर नौशाद की तलाश शुरू हुई। पहले लोग गुरुग्राम पहुंचे। फिर पता चला कि नौशाद की मोबाइल लोकेशन छतरपुर है। फिर छतरपुर पहुंचे। नौशाद के मामा ने बताया कि उनके परिजनों ने महरौली थाने में लिखित शिकायत दी।

उन्होंने कहा कि पुलिस को नौशाद का फोटो भी दिया गया, किन्तु उन्होंने केवल खानापूर्ति करके कहा कि कोई जानकारी मिलेगी, तो उन्हें बता दिया जाएगा। उसके बाद यह लोग गुड़गांव के हॉस्पिटल और थाने में पहुंचे और दिल्ली के कई क्षेत्रों में तलाशी ली। किन्तु नौशाद के बारे में जानकारी नहीं मिली। इस बीच नौशाद की लाश 15 तारीख को वसंत कुंज थाना क्षेत्र में कूड़े के पास मिली थी। पहचान नहीं होने की वजह से उसकी लाश को हॉस्पिटल के मोर्चरी में रखवा दिया गया था। फिलहाल पुलिस हत्या के कारणों की जांच कर रही है।

यूपी पुलिस की बड़ी कार्रवाई, बड़े पैमाने पर कच्ची शराब के साथ तीन गिरफ्तार

एक महीने पहले अपहृत हुए बच्चे का नहीं मिला कोई सुराग, खौफ के मारे स्कूल नहीं जा रहे छात्र

बांग्लादेश से लाते थे नकली नोटों की खेप, दिल्ली में 7 लाख रुपए की नकदी के साथ एक गिरफ्तार

Most Popular

- Sponsored Advert -