आतंकवाद के खिलाफ अब भारत को मिला नेपाल का भी साथ

काठमांडू : नेपाल ने आतंकवाद के सभी स्वरूपों की निंदा कर पाकिस्तान को अपरोक्ष रूप से कहा कि किसी देश को अपनी सरजमीं का इस्तेमाल दूसरे देश के खिलाफ नहीं होने देना चाहिए. भारत-पाकिस्तान के तनाव दक्षेस समूह को नुकसान पहुंचा रहे हैं. यह बात नेपाल के विदेश मंत्री प्रकाश शरण महत ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सम्मान में आयोजित समारोह में कही. इस तरह हम कह सकते हैं कि आतंकवाद के खिलाफ अब भारत को नेपाल का भी साथ मिल गया है.

गौरतलब है कि इंडिया हाउस में भारतीय राजदूत रंजीत राय द्वारा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सम्मान में आयोजित समारोह में मीडिया से बातचीत में नेपाल के विदेश मंत्री प्रकाश शरण महत ने कहा कि नेपाल आतंकवाद के सभी स्वरूपों के खिलाफ है. वह अंतरराष्ट्रीय समुदाय की तरफ से निंदा के बावजूद भारत में पाकिस्तान द्वारा आतंकी गतिविधियों को अंजाम दिए जाने के बारे में किये गए सवाल का जवाब दे रहे थे.

नेपाल के विदेश मंत्री प्रकाश शरण महत ने स्पष्ट कहा कि ‘हम सभी तरह के आतंकवाद के खिलाफ हैं. कोई भी वजह हो, लेकिन आतंकवाद-आतंकवाद होता है. हम इसकी निंदा करते हैं और हम आतंकवाद के खिलाफ मिलकर काम करना चाहेंगे. किसी देश को अपनी सरजमीं का इस्तेमाल किसी दूसरे देश के खिलाफ नहीं होने देना चाहिए. इसे पूरी तरह हतोत्साहित किया जाना चाहिए और आतंकवाद फैलाने वालों को समाप्त करना चाहिए. नेपाल का यह कथन भारत के विचारों का समर्थन कर रहा है.

दिल्ली में होगी नेपाल-भारत की योजना तैयार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -