मनपसंद मछली खाने के लिए जेल में ही खुदवा दिया था तालाब, ऐसी थी मुख़्तार अंसारी की दबंगई

Apr 07 2021 01:06 PM
मनपसंद मछली खाने के लिए जेल में ही खुदवा दिया था तालाब, ऐसी थी मुख़्तार अंसारी की दबंगई

लखनऊ: 14 घंटे की कवायद के बाद आखिर बाहुबली MLA मुख्तार अंसारी को भारी सुरक्षा के बीच पंजाब की रोपड़ जेल से उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में सलाखों के पीछे डाल दिया गया.  एक बार फिर बांदा जेल मुख्तार अंसारी का नया ठिकाना बनी है. यूपी की जेल ही कभी मुख्तार अंसारी का घर हुआ करती थी. जहां से यह बाहुबली MLA अपने तमाम कारनामों को अंजाम देता था. 

यहां तक की जेल की कालकोठरी भी उसकी मनमौजी में कोई बाधा नहीं डालती थी. आज वही उत्तर प्रदेश की जेल में आने से मुख्तार अंसारी और उसके परिवार को मौत का खौफ सताने लगा है. नवंबर 2005 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) MLA कृष्णनंद राय और उनके 6 साथियों की गोलियों से भूनकर निर्मम हत्या कर दी गई थी, मुख्तार अंसारी उस समय यूपी की फतेहगढ़ जेल में कैद था. वारदात से एक माह पहले ही मुख्तार अंसारी को गाजीपुर जेल से फतेहगढ़ जेल में स्थानांतरित किया गया था. कई जानकार इसे भी मुख्तार अंसारी की साजिश का एक हिस्सा बताते हैं.

उस दौर में उत्तर प्रदेश पुलिस में आईजी लॉ एंड ऑर्डर रहे बृजलाल बताते हैं कि "गाजीपुर जेल तो मुख्तार अंसारी का घर ही हुआ करती थी. जहां उसने अपनी मनपसंद मछली खाने के लिए जेल के अंदर ही तालाब खुदवा दिया था. शाम को जेल के भीतर बाकायदा बाहुबली MLA का दरबार सजता था. जिले के बड़े-बड़े अफसर मुख्तार अंसारी के साथ बैडमिंटन खेलने के लिए जेल आते थे."

वित्त वर्ष 2021-22 की पहले छमाही में 5.2 प्रतिशत तक रह सकती है खुदरा मु्द्रास्फीति: RBI

कोरोना टीकाकरण के लिए आयु सीमा पर सवाल, राहुल बोले- जरूरतों पर बहस बेकार

डाक विभाग में नौकरी पाने का अंतिम अवसर, बगैर परीक्षा मिलेगी नौकरी