इरफान के निधन को नामुमकिन मानती है यह फिल्म मेकर

बॉलीवुड में फिल्म मेकर मीरा नायर ने हाल ही में इरफ़ान के निधन के बाद बात की. इस दौरान उन्होंने कहा कि इरफान खान के बारे में पास्ट टैंस यानि गुजरे हुए समय में बात करना लगभग इंपॉसिबिल है क्योंकि इस एक्टर की मौजूदगी उनकी हर चीज में महसूस होती है. आप सभी जानते ही होंगे 54 साल के इरफान की कैंसर की एक रेयर डिसीज से दो साल की लड़ाई के बाद बीते बुधवार को मुंबई के एक अस्पताल में मौत हो गई. वहीँ उन्हें मुंबई के वर्सोवा में एक कब्रिस्तान में दफनाया गया था. ऐसे में फेसबुक पर स्ट्रीम किए गए डिजिटल होम-टू-होम फंडरेजर कॉन्सर्ट, 'आई फॉर इंडिया' में बात करने के दौरान मीरा नायर ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए ये बात कही.

इसी के साथ आपको बता दें कि मीरा नायर के साथ इरफान ने अपनी डेब्यु फिल्म "सलाम बॉम्बे" और "द नेमसेक" में काम किया था. हाल ही में मीरा ने कहा कि, 'इरफान चले गए ये कहना नामुमकिन हैं क्योंकि इरफान हम सबमें जिंदा हैं. वह एक जिंदादिल इंसान थे जो अपने दोस्तों के दिलों में तो जिंदा हैं हीं सड़क के एक अनजान बच्चे के दिल में भी जिंदा हैं. मैं अब तक जितने भी लोगों से मिली हूँ उनमें से इरफान सबसे बेहतरीन लिसनर्स में से एक थे. वो खूबसूरती से सुनते थे और उसे अपनी एक्टिंग में इस्तोमाल करते थे. इरफान के बारे में सबसे अच्छी बात यह थी कि उनके काम में कभी दोहराव नहीं था, "ऐसा कुछ नहीं जो आपने पहले कभी देखा हो."

इसी के साथ आगे मीरा ने कहा, ''इरफान के काम में एक ऊंचे स्तर की ईमानदारी थी जो भी वो करते थे बहुत सच्चाई औऱ प्योरिटी के साथ करते थे. मैं उन्हें हमेशा याद रखूंगी कभी भूल नहीं सकतीं.'' इसी के साथ आगे मीरा ने कहा, ''उन्होंने अपने काम की एक असाधारण विरासत छोड़ी क्योंकि वे हमेशा जानते थे कि वे स्पेशल थे. वो अपने पीछे ऐसे एक्टर्स छोड़ गए जो उनके काम और उनके स्टाइल से इंस्पायर और इंप्रेस थे और अब वे ही उनकी विरासत को आगे ले जायेंगे.''

जब इस फिल्म के लिए अनुपम को मिले थे केवल 5000 रुपए

ऑनलाइन कॉन्सर्ट I For India में प्रियंका ने सुनाई कविता

शाहरुख़ ने गाया ऐसा गाना कि जोर से चिल्ला पड़े अबराम, कहा- 'पापा अब बस करो'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -