बेटी को रोज हवस का शिकार बना रहा था बाप, हुआ गिरफ्तार

By iti mishra
Jan 24 2021 10:59 AM
बेटी को रोज हवस का शिकार बना रहा था बाप, हुआ गिरफ्तार

कोटा: हाल ही में एक अपराध का मामला सामने आया है जो सभी को हैरान कर गया है। जी दरअसल यहाँ जिले के डाबी थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक गांव में बेटी को बाप ने ही अपनी हवस का शिकार बनाया है। इस मामले में बाप तीन-चार महीने से लगातार अपनी नाबालिग बेटी के साथ बार-बार बलात्कार कर रहा था। अब पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है आरोपी मध्य प्रदेश का मूल निवासी है। इस मामले के बारे में बीते शनिवार को पुलिस ने खुलासा किया है। अब आरोपी शख्स को स्थानीय अदालत में पेश कर सजा भी दी जा चुकी है। बताया जा रहा है इस मामले के बारे में डाबी पुलिस स्टेशन एसएचओ संपत सिंह ने बात की है।

उनका कहना है, 'मध्य प्रदेश में रायसेन जिले का एक दिहाड़ी मजदूर और मूल निवासी व्यक्ति अपनी 10 वर्षीय बेटी के साथ 3-4 महीने तक बार-बार बलात्कार करने के आरोप में पकड़ा गया।' उन्होंने यह भी बताया कि इस मामले में शिकायत इलाके के सरपंच ने दी थी। उन्होंने ही पुलिस को सूचित किया था। खबरों के मुताबिक बीते शुक्रवार को नाबालिग लड़की को उसके दो छोटे भाई-बहनों (एक 7 साल के लड़के और 5 साल की लड़की) के साथ छुड़ाया गया और बाल कल्याण समिति (CWC) को सौंप दिया गया है। जब सीडब्ल्यूसी और एक महिला कांस्टेबल द्वारा काउंसलिंग की गई तो नाबालिग बच्ची ने सब सच बताया। बच्ची ने कहा, 'उसके पिता ने उसके साथ बार-बार बलात्कार किया था और मकर संक्रांति (14 जनवरी) के दिन कई बार उसके साथ नशे की हालत में बलात्कार किया था, जिससे उसकी हालत भी बहुत ख़राब हो गई थी। उस दौरान उसके पेट के नीचले हिस्से में दर्द होने लगा।'

इस मामले में पुलिस का कहना है आरोपी व्यक्ति के अपनी पत्नी के साथ अच्छे संबंध नहीं थे। दोनों के बीच हर दिन झगड़ा होता था और उसी के चलते आरोपी ने अपनी पत्नी को उसके माता-पिता के साथ छोड़ दिया था। उसके बाद करीब चार महीने पहले तीनों नाबालिग बच्चों को आरोपी अपने साथ बूंदी जिले के डाबी इलाके में ले आया। वहीं आरोपी हर रोज नशे में घर लौटता था और सबसे बड़ी नाबालिग बेटी का बलात्कार करता था।

भारत की कोरोना वैक्सीन पर दक्षिण अफ्रीका को है पूरा विश्वास, सीरम इंस्टीट्यूट के Covishield को दी मंजूरी

तमिलनाडु में बोले राहुल गाँधी- 'नए कृषि कानून किसानों के लिए नोटबंदी की तरह है'

इंग्लैंड के विरुद्ध मैच से पहले 27 जनवरी को चेन्नई पहुंचेगी भारतीय टीम