MeToo मामले में रमानी को जमानत, एम जे अकबर ने किया है मानहानि का केस

Feb 25 2019 01:35 PM
MeToo मामले में रमानी को जमानत, एम जे अकबर ने किया है मानहानि का केस

नई दिल्ली : दिल्ली की एक अदालत ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री एम जे अकबर द्वारा दर्ज कराए गए मानहानि के मामले में सोमवार को पत्रकार प्रिया रमानी को जमानत प्रदान कर दी है. दरअसल, ‘मी टू’ अभियान के दौरान रमानी ने अकबर के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. इस पर अकबर ने उनके विरुद्ध मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया, जिसमें रमानी को बतौर आरोपी समन भेजा गया था.

जीएसटी काउंसिल के इस निर्णय के बाद अब घर खरीदने वालों को मिलेगा फायदा

अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने 10,000 रुपये के मुचलके पर रमानी के जमानत प्रदान कर दी थी. अदालत ने सुनवाई के दौरान पाया कि अकबर के खिलाफ लगाए गए आरोप प्रथम दृष्टि में मानहानि कारक हैं और उन्होंने तमाम आरोपों को ‘‘फर्जी तथा मनगढ़ंत’’ करार दिया है. इसके बाद अदालत ने रमानी को अपने सामने पेश होने को कहा था. रमानी का आरोप है कि 20 वर्ष पहले जब अकबर पत्रकार थे तब उन्होंने रमानी का यौन उत्पीड़न किया था.

डॉलर के मुकाबले सोमवार को भी रुपये में नजर आयी मजबूती

वहीं पूर्व केन्द्रीय मंत्री अकबर ने आरोपों से साफ़ इनकार किया है. अकबर पर कई अन्य महिलाओं ने भी इसी तरह के आरोप लगाए हैं. भारत में गत वर्ष ‘मी टू’ अभियान ने उस समय जोर पकड़ा तब अकबर का नाम सोशल मीडिया में आया. उन दिनों वे नाइजीरिया में थे. फिर उन्होंने 17 अक्तूबर को केंद्रीय मंत्रिपरिषद से त्यागपत्र दे दिया था. एमजे अकबर ने अपने इस्तीफे में कहा था कि उन्होंने इंसाफ के लिए व्यक्तिगत तौर पर मामला दर्ज कराया है. इसलिए वे अपने पद से अलग होकर खुद पर लगे झूठे आरोप का सामना करना चाहते हैं. 

खबरें और भी:-

सप्ताह की शुरुआत में तेजी के साथ खुले शेयर बाजार

पेट्रोल-डीज़ल के दामों में आज फिर वृद्धि, जानिए आज के रेट

पीएम मोदी आज जवानों को समर्पित करेंगे नेशनल वॉर मेमोरियल