तीन तलाक का मसला मुस्लिमों पर छोड़े

लखनऊ। उत्तरप्रदेश में चुनावी प्रचार का दौर है। ऐसे में विभिन्न दल जातिगत और सांप्रदायिक वोट बैंक को भुनाने में लगे हैं। राजनीतिक क्षेत्र में लगभग हाशिये पर चल रहीं मायावती बसपा के लिए कोई अवसर खोज रही हैं। उन्होंने तीन तलाक के मसले पर कहा है कि यह मामला मुस्लिम संगठन पर ही छोड़ दिया जाना चाहिए। उन्होंने मीडिया को प्रेस रिलीज़ जारी कर इस बारे में अवगत करवाया।

उनका मत था कि तीन बार तलाक कहे जाने और तलाक लिए जाने का मसला मुसलमानों व उनके संगठनों पर ही छोड़ दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में तो यह प्रथा लगभग समाप्ति की ओर है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ को इस तरह के मामले को थोपना बंद करना चाहिए।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महोबा में उपस्थितों को संबोधित कर कहा था कि महिलाओं को उनका अधिकार मिलेगा और उन्होंने तीन तलाक के मसले पर भी अपनी बात कही थी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -