+

अंधविश्वास से घिरा देवर, ले ली भाभी की जान

Dec 04 2019 02:40 PM
अंधविश्वास से घिरा देवर, ले ली भाभी की जान

हाल ही में अपराध का जो मामला सामने आया है वह मध्य प्रदेश के बड़वानी का है. इस मामले में अंधविश्वास के चलते एक युवक ने अपनी ही भाभी की जान ले ली है. इस मामले में पुलिस द्वारा पकड़े जाने पर आरोपी ने सहज भाव से अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है. मिली जानकारी के मुताबिक बीते सोमवार को आरोपी निवासी ग्राम बोम्या ने पुलिस हिरासत में कहा कि, ''लक्ष्मीबाई उसकी दूर के रिश्ते की भाभी थी, उसका आरोपी के घर आना-जाना था.''

इस मामले में आरोपी ने बताया कि- 'मेरी पत्नी और बेटी की तबीयत अकसर खराब रहती थी. एक माह पूर्व पेड़ से गिरकर मेरा भाई भी घायल हो गया था. तब से मुझे शंका होने लगी थी कि लक्ष्मीबाई जादू-टोना करती है. इसके चलते मैंने फावड़े से सिर पर वार करके उसकी हत्या कर दी.' बीते सोमवार को पुलिस कंट्रोल रूम में एसपी डीआर तेनीवार ने बताया कि, '28 नवंबर की रात आरोपी विक्रम नशे में था. वह लक्ष्मीबाई के घर पहुंचा. उससे बातचीत की और पास ही पड़े फावड़े से उसके सिर पर वार कर दिया.'

वहीं आगे उन्होंने कहा इसके बाद आरोपित मौके से फरार हो गया और सूचना पर रात को ही पुलिस ने मौके पर पहुंच निरीक्षण किया. वहीं आगे एसपी ने बताया कि, 'घटना के अगले दिन मैं भी मौके पर पहुंचा था. घटनास्थल पर एक पीला गमछा मिला, जिसके बारे में थाना प्रभारी ने पूछताछ की तो परिजन ने अपना होने से इंकार कर दिया.' वहीं इस मामले में पुलिस को शक हुआ कि गमछा आरोपित का ही है और आगे जानकारी ली तो पता चला कि ऐसा गमछा विक्रम के पास होता है. उसके बाद सारा केस घूमकर उसके पास पहुँच गया और उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया.

पहले नौ वर्षीय लड़की को बनाया हवस का शिकार और फिर दे दी मौत

दूसरी औरत से हैं पति के नाज़ायज़ सम्बन्ध, इसलिए पत्नी को दे दिया तीन तलाक

पुलिसकर्मी ने साथियों के साथ मिलकर किया महिला का बलात्कार, केस दर्ज