मकर संक्रांति पर जरूर करें इन सूर्य मन्त्रों का जाप, हर मनोकामना होगी पूरी

Jan 12 2019 05:00 PM
मकर संक्रांति पर जरूर करें इन सूर्य मन्त्रों का जाप, हर मनोकामना होगी पूरी

हम सभी इस बात से वाकिफ हैं कि हर साल पूरे देश में मकर संक्रांति का पर्व बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है. ऐसे में कहते हैं इस दिन भगवान सूर्य मकर राशि में प्रवेश करते हैं, इसलिए इसे मकर संक्रांति कहते हैं. मकर संक्रांति का त्यौहार सभी को भाता है. इस पर्व को सूर्य का पर्व कहा जाता है और इस दिन भगवान सूर्य को खुश करने के लिए लाखो जतन किए जाते हैं. ऐसे में सूर्य के मकर राशि में प्रवेश पर उसकी किरणों से अमृत की बरसात होने लगती है और इस दिन सूर्य उत्तरायण होते हैं इस वजह से मकर संक्रांति पर सूर्य की पूजा करने से बहुत लाभ होता है. जी हाँ, अगर आप इस दिन भगवान सूर्य की कृपा पाने चाहते हैं तो आदित्य ह्रदय स्तोत्र का पाठ जरूर करें क्योंकि इससे बहुत बड़ा फल मिलता है.

इसी के साथ अगर आप सूर्य भगवान को खुश करना चाहते हैं तो मकर संक्रांति पर विशेष 5 सूर्य मंत्र का जाप जरूर करें क्योंकि इससे महालाभ होता है. आज हम आपके लिए कुछ सूर्य मंत्र लेकर आए हैं जिनका उच्चारण आप मकर संक्रांति के दिन कर सकते हैं क्योंकि इनसे आपको बहुत बड़ा लाभ हो सकता है. जी हाँ, आपको हम 5 मंत्र बता रहे हैं आप इनमें से जो भी मंत्र चाहें उसका जाप कर सकते हैं. यह मंत्र आपको सभी मनोकामना को पूरा कर देंगे.

यह हैं 5 मंत्र

ॐ घृ‍णिं सूर्य्य: आदित्य:
ॐ ह्रीं ह्रीं सूर्याय सहस्रकिरणराय मनोवांछित फलम् देहि देहि स्वाहा।
ॐ ऐहि सूर्य सहस्त्रांशों तेजो राशे जगत्पते, अनुकंपयेमां भक्त्या, गृहाणार्घय दिवाकर:।
ॐ ह्रीं घृणिः सूर्य आदित्यः क्लीं ॐ।
ॐ ह्रीं ह्रीं सूर्याय नमः।

इस मकर संक्रांति पर लालू के घर नहीं होगा दही-चूड़े का भोज, ये है उसकी वजह

मकर संक्रांति पर इन 4 राशियों पर पड़ेगी सूर्य देव की नजर, हो जाएंगे मालामाल

आइए जानते हैं मकर संक्रान्ति, लोहड़ी व पोंगल का संबंध